About us

एमएस धोनी की लीडरशिप एबिलिटी से विराट कोहली खासे प्रभावित

0
एमएस धोनी की लीडरशिप एबिलिटी से विराट कोहली खासे प्रभावित हैं। एक इंटरव्यू में कोहली ने कहा है- “बोल्ड डिसीजन लेना और नतीजे के बारे में सोचे बिना उस पर डटे रहना ही लीडर की क्वालिटी होती है। धोनी जिस तरह फैसले लेते हैं, उन्हें देखकर मैंने बहुत कुछ सीखा है।”
– न्यूज एजेंसी के मुताबिक, इंडियन टेस्ट क्रिकेट टीम के कप्तान कोहली ने कहा- “आप सही या गलत हो सकते हैं, लेकिन एक बार जब फैसला लेने के बारे में तय कर लें तो ले लेना चाहिए। मेरा मानना है कि एक कप्तान की यही क्वालिटी होती है।”
– राइट हैंड बैट्समैन कोहली ने कहा- “कई बार डिसीजन लेना बेहद मुश्किल होता है और इसके लिए काफी हिम्मत की जरूरत पड़ती है।”
– “लीडरशिप की जिम्मेदारी ने मुझे पहले से बेहतर क्रिकेटर बनाया है। टेस्ट टीम को लीड करना ऑनर है, यह करते हुए मुझे गर्व महसूस होता है।”
– “एक टेस्ट क्रिकेटर के तौर पर शुरुआत करना और फिर टेस्ट टीम को लीड करना मेरे लिए बहुत मायने रखता है।”
– कोहली ने BCCI.TV. को दिए इंटरव्यू में यह बातें कही हैं।
‘टेस्ट क्रिकेट से आपका टेस्ट होता है’
– कोहली ने कहा- “कप्तान की अतिरिक्त जिम्मेदारी से मुझे अपना खेल बेहतर करने में मदद मिली है। टेस्ट क्रिकेट से आपका टेस्ट होता है, ऐसा किसी और फॉर्मेट में नहीं होता।”
– “सफेद जर्सी पहनकर फील्ड में उतरना मेरे लिए फख्र की बात है। हम एक वर्ड क्लास टीम बनना चाहते हैं और इसे लेकर किसी को कोई शक नहीं होना चाहिए।”
– “कप्तान के तौर पर शुरुआत करते वक्त आपको नंबर वन होने के बारे में नहीं सोचना चाहिए, लेकिन फिर बाद में जिस भी फॉर्मेट में आप खेलते हैं, उसमें टॉप पर रहना चाहते हैं और इसके लिए हम कोशिश भी करते हैं।”
क्या है कोहली का लक्ष्य?
– कोहली ने कहा- “ग्रेट प्लेयर बनने के लिए टीम के तौर पर ग्रेट परफॉर्मेंस देने की जरूरत होती है और यही हमारा लक्ष्य है।”
– “उतार-चढ़ाव आते रहते हैं, आप पर दबाव होगा, आपकी आलोचना होगी, नेगेटिव चीजें चारों तरफ होंगी, लेकिन इसी में आपकी परख होगी, इसी से आपका कैरेक्टर बनेगा।”
16 में से 9 टेस्ट जीते, 2 में मिली हार
– 27 साल के विराट कोहली ने 2 साल पहले टेस्ट टीम की कप्तानी संभाली थी।
– इनके नेतृत्व में इंडिया ने अब तक 16 टेस्ट मैच खेले हैं। इनमें से 9 टेस्ट जीते हैं, जबकि सिर्फ 2 में हार मिली है और 5 टेस्ट ड्रॉ हुए हैं।
– कोहली पहले दिल्ली की तरफ से खेलते थे। बतौर कप्तान अपने होम ग्राउंड पर वह एक भी टेस्ट नहीं हारे हैं।
Share.

About Author

Leave A Reply