About us

नरेंद्र मोदी 19 दिसंबर को कानपुर में परि‍वर्तन रैली को संबोधि‍त करेंगे

0
नरेंद्र मोदी 19 दिसंबर को कानपुर में परि‍वर्तन रैली को संबोधि‍त करेंगे। इस दौरान उनके बैठने के लि‍ए स्‍टेज पर लकी कुर्सी लाई जाएगी। बीजेपी नेताओं का कहना है कि‍ 19 अक्‍टूबर 2013 को यहां ‘वि‍जय शंखनाद’ रैली में भी वे इसी कुर्सी पर बैठे थे। 2014 की लोकसभा चुनाव में पार्टी को यूपी की 80 में से 71 सीटों पर जीत मि‍ली। साथ ही नरेंद्र मोदी पीएम बने।
– कानपुर में बीजेपी के जि‍ला अध्‍यक्ष सुरेंद्र मैथानी ने  इस बारे में जानकारी दी। उन्‍होंने बताया कि 19 अक्‍टूबर 2013 को नरेंद्र मोदी को मंच पर बैठने के लिए पहले कानपुर के बाजार से ही कुर्सी खरीदने का प्लान बनाया गया।
– कुर्सी के करीब एक दर्जन से ज्यादा डिजाइन देखे गए। बाद में राजशाही खानदान में इस्तेमाल होने वाली कुर्सी का डिजाइन चुना गया और उसे लखनऊ में ऑर्डर देकर शाकु की लकड़ी से बनवाया गया।
– इनके मुताबिक इस कुर्सी को बनाने में कारीगरों को करीब 15 दिन लगे। इसकी कीमत 15500 रुपए दी गई।
इस बार भी मोदी इस पर बैठ सकते हैं
– बीजेपी नेता सुरेंद्र मैथानी ने बताया कि ये कुर्सी नरेंद्र मोदी के लिए भाग्यशाली है। ऐसे में 19 दिसंबर को होने वाली रैली में भी उन्‍हें इसी पर बैठाने की कोशिश की जाएगी।
– इस कुर्सी को मंच पर रखने को लेकर एसपीजी को सूचना दे दी गई है। हालांकि अभी इसको लेकर कोई जवाब नहीं आया है।
– अब 19 दि‍संबर को होने वाली रैली की घोषणा के बाद इस चेयर की सफाई और पॉलि‍श कि‍या गया है। इसे लोकल पार्टी ऑफि‍स के हॉल में रखा गया है।
– रैली के बाद फि‍र से इसे पार्टी ऑफि‍स में ग्‍लास चैंबर के अंदर बंद कर दि‍या जाएगा।
– कानपुर भाजपा कार्यालय में शीशे के ग्लास में रखे इस कुर्सी को समय-समय पर साफ भी किया जाता है।
सुरक्षि‍त रखी गई थी कुर्सी
– कानपुर में डि‍स्‍ट्रि‍क बीजेपी ऑफि‍स में वहां के लीडर्स ने स्‍पेशल ग्‍लास चैंबर के अंदर इस कुर्सी को पि‍छले 3 साल से सुरक्षि‍त रखा है।
– चैंबर बनाने के लि‍ए यह ग्‍लास दि‍ल्‍ली से खरीद कर लाया गया। इस बॉक्‍स की लंबाई 6/5.5 फीट और इसकी चौड़ाई 3 फीट है।
– इसके साथ ही उस दौरान जि‍स गि‍लास में मोदी ने पानी पीया था और वहां का फेमस ठग्‍गू का लड्डू जि‍स पेपर बॉक्‍स में दि‍या गया था, वे भी वहां रखे गए हैं।
Share.

About Author

Leave A Reply