About us

शिवराजसिंह चौहान की पहल पर निकली ‘नमामि देवि नर्मदे’-सेवा यात्रा को सभी जगह भारी जन-समर्थन मिल रहा

0

मध्यप्रदेश की गौरवशाली पुण्य-सलिला माँ नर्मदा के संरक्षण और संवर्धन को लेकर मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान की पहल पर निकली ‘नमामि देवि नर्मदे’-सेवा यात्रा को सभी जगह भारी जन-समर्थन मिल रहा है। यात्रा आज महेश्वर ब्लॉक के गंगातखेड़ी गाँव से माँ नर्मदा की आरती, कलश एवं ध्वज पूजन और हर-हर नर्मदे के जय-घोष के साथ निकली। ग्रामवासियों ने यात्रियों का स्वागत कर संकल्प लिया कि वे नर्मदा को प्रदूषित नहीं होने देंगे। 

गंगातखेड़ी में विधायक श्री राजकुमार मेव और अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष श्री भूपेंद्र आर्य ने जन-संवाद को संबोधित कर माँ नर्मदा को मप्र के विकास में मील का पत्थर बताया। नर्मदा यात्रा को लेकर यह बात तो स्पष्ट हो गई कि ग्रामवासी समझ चुके हैं कि उनके गाँव की अर्थ-व्यवस्था को मजबूत एवं विकसित करने में माँ नर्मदा का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। गाँव के बुजुर्ग श्री किशनलाल ने बताया कि उनके होश संभालने के 65 साल में नर्मदा के संरक्षण के प्रति इतना उत्साह पहले कभी नहीं दिखा। लोग नर्मदा नदी का उपयोग तो करते रहे, लेकिन उसके संरक्षण, संवर्धन और विकास का मूल मंत्र मुख्यमंत्री श्री चौहान ने फूँका। ग्रामीणों ने एक स्वर में कहा कि नर्मदा यात्रा से नदी के प्रति आस्था, विश्वास और संरक्षण का जो वातावरण निर्मित हुआ है, वह वर्षों तक कायम रहेगा। 

गंगातखेड़ी से आगे ग्राम बठोली एवं लखनपुरा में भी यात्रा का भव्य और आत्मीय स्वागत हुआ। ग्राम बड़दिया सुर्ता में यात्रा के पहुँचने पर पुष्प-वर्षा से स्वागत किया। महिलाओं एवं बालिकाओं ने कलश से यात्रा की अगवानी की। जन-संवाद नर्मदा कलश एवं ध्वज तथा कन्या-पूजन के साथ शुरू हुआ। विधायक श्री मेव ने बड़ी संख्या में मौजूद ग्रामीणों को नर्मदा को प्रदूषण से मुक्त रखने का संकल्प दिलवाया। उन्होंने नर्मदाअष्टक प्रस्तुति करने वाली बालिकाओं को स्वेच्छानुदान से 11 हजार रूपए की राशि देने की घोषणा की। 

 श्री भूपेंद्र आर्य ने बताया कि माँ नर्मदा के संरक्षण का अभियान अब जन-आंदोलन बन गया है। इसमें जन-सहभागिता लगातार बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि जिन कारणों से नर्मदा प्रदूषित होती है उनकी रोकथाम होनी चाहिए। समाज भी अब इस बात से सहमत है। माँ नर्मदा की पवित्रता को बनाए रखने के लिए उसे प्रदूषणमुक्त रखना होगा। जन-संवाद को कोर ग्रुप के सदस्य सर्वश्री सुशील बर्वा, हरिसिंह चावड़ा, विनोद भाई आदि ने संबोधित कर जैविक खेती के महत्व की जानकारी दी। यात्रा के हमीरपुरा गाँव पहुँचने पर आरती, कलश और पुष्प-वर्षा से अगवानी की गई। नर्मदा सेवायात्रा महेश्वर ब्लॉक के गाँव के बाद दोपहर में बड़गाँव ब्लॉक के ग्राम रतनपुर, सेमरला, मुरल्ला, बेलसर और अपने रात्रि विश्राम स्थल रामगढ़ पहुँची। इन गाँवों में भी यात्रा का स्वागत कर नर्मदा को प्रदूषण से मुक्त रखने का संकल्प लिया गया।

सेवा यात्रा में पीनाज मसानी होगी शामिल

यात्रा में सुश्री पीनाज मसानी भी शामिल होगी। सुश्री मसानी मंगलवार को नावघाटखेड़ी में होने वाले कार्यक्रम में हिस्सा लेंगी। इसके बाद वे रात्रि विश्राम इंदौर में करेगी। 

Share.

About Author

Leave A Reply