600 से अधिक जोड़ों के सात फेरे और 23 का निकाह

0

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान गुरूवार को धार जिले के धरमपुरी में मुख्यमंत्री कन्या विवाह/निकाह योजना के सामूहिक विवाह सम्मेलन में शामिल हुए। एक ही पंडाल के नीचे लगभग सवा 600 जोड़ों ने हिन्दू रीति-रिवाज के साथ वैदिक मंत्रोच्चार के बीच अग्नि के सामने सात फेरे लिये वही 23 मुस्लिम जोड़ों का निकाह भी हुआ।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री कन्या विवाह/निकाह योजना में अब वधुओं को 25 हजार रूपये की राशि के साथ ही स्मार्ट फोन भी दिये जायेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मैंने मुख्यमंत्री बनते ही सबसे पहले लाड़ली लक्ष्मी योजना को मूर्त रूप दिया। मेरे मन में यह संकल्प था कि बेटियों को माता-पिता के ऊपर बोझ नहीं रहने देंगे, उन्हें वरदान बनाकर रहेंगे। बेटियों के कल्याण के लिये लाड़ली लक्ष्मी से लेकर पढ़ाई-लिखाई के साथ ही विवाह तक की चिन्ता सरकार कर रही है। उन्होंने कहा कि यह भी तय किया है, कि आगे से अध्यापक/शिक्षकों की भर्ती में 50 प्रतिशत आरक्षण महिलाओं को दिया जाये। स्थानीय निकायों एवं पंचायतों में पहले से ही महिलाओं के लिये 50 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान है। वन विभाग को छोड़कर शेष सभी विभाग में 33 प्रतिशत पदों पर भर्ती महिलाओं के लिये आरक्षित की गई है। पुलिस में भी बेटियाँ अब कांस्टेबल से पुलिस अफसर तक बन रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने लिंगानुपात के मामले में धार जिले की प्रशंसा की।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोई भी विद्यार्थी 12वीं में 75 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करता है तथा उसका आईआईटी, मेडिकल संस्थानों, आईआईएम जैसे संस्थानों में प्रवेश होता है तो उस विद्यार्थी की फीस मध्यप्रदेश की सरकार वहन करेगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पर्यावरण सुधार के लिये नर्मदा सेवा यात्रा निकाली जा रही है। प्रत्येक व्यक्ति अपने जीवन के लिये प्रतिदिन जितनी आक्सीजन लेता है उसकी पूर्ति 6 से 7 पेड़ कर पाते हैं, अतः सभी लोग 6-7 पेड़ लगायें। उन्होंने आज कार्यक्रम में पौधे भेंट करने की तारीफ की। श्री चौहान ने कहा कि एक मई से प्रदेश में माईक्रोन पॉलीथिन बन्द की जा रही है ।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बिल्वामृतेश्वर मंदिर बेंट संस्थान के कटाव को रोकने एवं संरक्षण के लिये जिला प्रशासन और जन-प्रतिनिधियों को बैठकर वैज्ञानिक कार्य-योजना तथा रणनीति बनाने के लिये कहा। उन्होंने सरदार सरोवर बाँध में पानी भरने की स्थिति का आंकलन करते हुए बेंट संस्थान के लिये पुल निर्माण एवं भारूड़पुरा तालाब की ऊँचाई बढ़ाने की माँग का तकनीकी परीक्षण करवाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि तकनीकी रूप से साध्य पाये जाने पर राज्य सरकार स्वीकृति के लिये तैयार है।

पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री विक्रम वर्मा ने नव विवाहित जोड़ों के मंगलमय वैवाहिक जीवन की कामना की। विधायक श्री कालूसिंह ठाकुर ने बेंट संस्थान को पर्यटक स्थल के रूप में विकसित करने की माँग रखी। कार्यक्रम में प्रभारी मंत्री श्री अन्तरसिंह आर्य, सांसद श्रीमती सावित्री ठाकुर, विधायक श्रीमती नीना वर्मा, श्रीमती रंजना बघेल और अध्यक्ष जिला पंचायत श्रीमती मालती मोहन पटेल सहित अन्य जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Share.

About Author

Leave A Reply