About us

आईपीएस अधिकारी मयंक जैन को भारत सरकार ने सेवा से पृथक कर दिया

0

लोकायुक्त की कार्रवाई के बाद से ही निलंबित चल रहे मप्र के 1995 बैच के आईपीएस अधिकारी मयंक जैन को भारत सरकार ने सेवा से पृथक कर दिया है। मई 2014 में लोकायुक्त की उज्जैन टीम ने उनके भोपाल, इंदौर और रीवा स्थित निवास पर छापा मारा था। इस कार्रवाई में मयंक जैन के पास लगभग 100 करोड़ की सम्पत्ति मिली थी। इसके बाद ही सरकार ने उन्हें सस्पेंड कर दिया था।

 कहां, क्या मिला था
– भोपाल :बीमाकुंज, कोलार रोड के सामने परफेक्ट प्लाजा में नर्सिंग होम। रिवेयरा टाउनशिप स्थित किराए के मकान से 90 हजार रुपए नगद और 15 लाख रु. के जेवर। 25-25 हजार रुपए के दो जर्मन शेफर्ड डॉग। महाबली नगर, कोलार रोड में तीन हजार वर्ग फीट का मकान।
– इंदौर : एक शैक्षणिक संस्थान में पार्टनरशिप। झाबुआ में 6 एकड़ कृषि भूमि। डीएलएफ गार्डन सिटी, इंदौर और कंचन नगर, ओल्ड पलासिया में दो फ्लैट। राउखेड़ी, सांवेर में स्टोन क्रशर और सीमेंट मिक्सिंग प्लांट।
– उज्जैन: ओमेक्स सिटी में 3000 वर्ग फीट का प्लॉट (पुलिस हाउसिंग सोसायटी से लिया गया)।
– रीवा: चुरहट में मकान, नर्सिंग होम और 19 लाख नकद मिले।
– खरगोन : भीकन गांव, खरगोन में 45 एकड़ कृषि भूमि।
Share.

About Author

Leave A Reply