About us

गीतकार गोपालदास नीरज का गुरुवार शाम निधन हो गया। वे 93 वर्ष के थे

0

पद्मभूषण से सम्मानित गीतकार गोपालदास नीरज का गुरुवार शाम निधन हो गया। वे 93 वर्ष के थे। उन्हें दिल्ली के एम्स में भर्ती किया गया था। परिजनों ने बताया कि उन्हें बार-बार सीने में संक्रमण की शिकायत हो रही थी। सीएम योगी ने एलान किया है कि उनकी अंतिम यात्रा राजकीय सम्मान से निकाली जायेगी। हालांकि उनका अंतिम संस्कार नहीं किया जायेगा क्योंकि गोपाल दास नीरज ने जवाहरलाल नेहरु मेडिकल कॉलेज अलीगढ़ को देहदान कर दिया था।

सुबह 8.30 पर शव पहुंचेगा आगरा
-गोपालदास ‘नीरज’ की बेटी कुंदनिका शर्मा ने बताया कि सुबह 5 बजे शव को लेकर परिजन दिल्ली से चलेंगे। लगभग 8.30 पर आगरा पहुंचेंगे। जहां उनके आवास पर शव को अंतिम दर्शन के लिए रखा जायेगा। तकरीबन 12.30 बजे शव को अलीगढ़ ले जाया जायेगा।
-जबकि 3 बजे राजकीय सम्मान के साथ उनकी अंतिम यात्रा निकाली जायेगी। उसके बाद उनके शव को मेडिकल कॉलेज को दान दे दिया जायेगा।

कहा था-मैं मरने के बाद भी जीना चाहता हूं
-देहदान कर्तव्य संस्था के अध्यक्ष डॉ एस के गौड़ ने बताया कि मैं 10 दिसंबर 2015 को नीरज जी से मिलने किसी के माध्यम से पहुंचा था। वहां पहुँच कर मैंने उन्हें देहदान के बारे में बताया। तब उन्होंने कहा कि मैं मरने के बाद भी जीना चाहता हूं और यह सबसे अच्छा माध्यम है। उन्होंने बिना समय गवाएं फॉर्म पर दस्तखत कर दिए। अब शनिवार को राजकीय सम्मान के बाद उनका शव मेडिकल कॉलेज को दान कर दिया जायेगा

कई बड़ी हस्तियां पहुंच सकती है अंतिम दर्शन को
-कुंदनिका शर्मा ने बताया कि अंतिम दर्शन के लिए परिजनों के साथ साथ प्रशासन ने भी तैयारी कर ली है। उनके अंतिम दर्शन के लिए राजनीती के बड़े दिग्गज आगरा या अलीगढ़ पहुंच सकते हैं।

Share.

About Author

Leave A Reply