About us

पिता का सपना हर हाल में पूरा करूंगा

0
जम्मू-कश्मीर के उड़ी सेक्टर में रविवार को आतंकी हमले में शहीद हुए सांबा के हवलदार रवि पाल का सोमवार शाम को अंतिम संस्कार कर दिया गया। रवि के 10 साल के बेटे वंश ने कहा कि मैं अपने पिता का सपना हर हाल में पूरा करूंगा। वो चाहते थे कि मैं आर्मी में डॉक्टर बनूं। मैं उनकी मौत का बदला लूंगा। रवि के वंश समेत दो बच्चे हैं। दूसरा बेटा सुदानशीष (7 साल) 4th क्लास में पढ़ता है। वहीं, सुबेदार करनैल सिंह का भी पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार हुआ। रवि और करनैल दोनों डोगरा रेजीमेंट में तैनात थे। रविवार को करनैल के गांव में जब खबर पहुंची थी, तो वहां 150 घरों में चूल्हा नहीं जला।
– शहीद रवि के बेटे वंश ने बताया- “पापा हर सुबह फोन करते थे। शनिवार की सुबह भी फोन किया था। उन्होंने मुझसे पढ़ाई पर ध्यान देने को कहा था। ताकि मैं आर्मी में डॉक्टर बन सकूं।”
– “मैं जानता हूं कि मेरे पिता नहीं रहे, लेकिन मैं उनके सपने को पूरा करूंगा और उनकी मौत का बदला लूंगा।”
– बता दें कि रवि पाल पिछले 23 साल से आर्मी में अपनी सेवाएं दे रहे थे।
– वहीं, सुबेदार करनैल सिंह का उनके गांव शिबु चक गांव में पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया।
– इस मौके आसपास के गांवों के बड़ी तादाद में लोग मौजूद थे। करनैल के तीन बच्चे हैं।
आतंकी हमले में 13 जवान जिंदा जले
– रविवार तड़के उड़ी आर्मी बेस पर जैश-ए-मोहम्मद के हमले में 18 जवान शहीद हो गए।
– आतंकियों ने यहां टेंटों पर 17 ग्रेनेड फेंके। इसके बाद लगी आग में 13 जवान जिंदा जल गए।
– शहीद करनैल सिंह के गांव में जब देर रात खबर पहुंची तो वहां 150 घरों में चूल्हा नहीं जला।
– शहीदों में सबसे ज्यादा 15 बिहार रेजीमेंट के हैं। चार जवान के पार्थिव शरीर इतनी बुरी तरह झुलस चुके थे कि कई घंटों तक उनकी पहचान नहीं हो पाई।
– इसके पहले फिदायीन हमले में शहीद जवानों के शवों को रविवार को श्रीनगर लाया गया।
– यहांं के बादामीबाग छावनी में 15th कोर के हेडक्वार्टर में श्रद्धांजलि दी गई। इस मौके पर जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती, सेना के कई अफसर मौजूद थे।
– महाराष्ट्र सरकार ने सभी शहीदों के परिवार वालों को 15 लाख रुपए देने का एलान किया है।
– वहीं, अखिलेश सरकार ने यूपी के रहने वाले शहीदों के परिवार वालों को 20 लाख रुपए की मदद देने की बात कही। बता दें कि यूपी के रहने वाले 4 जवान शहीद हुए हैं। ये सभी 6 बिहार रेजीमेंट के थे।
Share.

About Author

Leave A Reply