About us

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पत्नी साधना सिंह के साथ खजुराहो पहुंचकर स्थानीय दिंगबर जैन अतिशय क्षेत्र में प्रख्यात जैन महामुनि आचार्य विद्यासागर महाराज के दर्शन किए

0

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पत्नी साधना सिंह के साथ खजुराहो पहुंचकर स्थानीय दिंगबर जैन अतिशय क्षेत्र में प्रख्यात जैन महामुनि आचार्य विद्यासागर महाराज के दर्शन किए और आशीर्वाद प्राप्त कर प्रदेश के पहले जीव दया सम्मान को खजुराहो से प्रदान करने की घोषणा की। महामुनि आचार्य विद्यासागर महाराज खजुराहो में ही ससंघ चार्तुमास करेंगे। आगामी 29 जुलाई को पर्यटन नगरी खजुराहो के जैन मंदिर में कलश स्थापना की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने जैन मंदिर परिसर पहुंचे जहां उन्होंने धर्मसभा के दौरान कहा- गुरुवर मुझे ऐसा वरदान दीजिए कि मैं सतमार्ग पर चलकर कर प्रदेश की साढ़े 7 करोड़ जनता की हर समस्या का निदान कर आपके बताए मार्ग पर चल सकूं। उन्होंने मंच से कहा कि मेरा आचार्यश्री से आग्रह है कि आप अपना चतुर्मास खजुराहो में ही करें। प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की जा रही जीव दया सम्मान की शुरुआत आपके कर-कमलों से हो, चतुर्मास के दौरान अगस्त के किसी भी रविवार को शुभारंभ करने की अनुमति मुझे प्रदान करें। आचार्यश्री ने हाथ उठाकर उन्हें आशीर्वाद दिया।

मुख्यमंत्री चौहान ने आचार्यश्री की प्रेरणा से चलाए जा रहे हाथ करघा, गौशालाओं और अस्पताल आदि की सराहना की। खजुराहो में जैनाचार्य महामुनि विद्यासागर महाराज ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को न सिर्फ आशीर्वाद दिया बल्कि एक नसीहत भी दी। मुनिश्री ने कहा कि जब बात विकास या समृद्धि की आए तो पूरे प्रदेश की नहीं देश हित की किया करो।

आचार्य श्री के प्रकल्प अमूल्य : दीक्षा के 50 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में जैन समाज द्वारा आयोजित संयम स्वर्ण महोत्सव में शीर्षस्थ संत आचार्य विद्यासागर महाराज ससंघ विराजमान हैं। शुक्रवार सुबह उनके दर्शन करने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पत्नी साधना सिंह के साथ पहुंचे। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि आचार्य श्री का जीवन दर्शन लोगों की भलाई और कल्याण के प्रकल्प अमूल्य हैं। उन्होंने कहा कि वे आचार्य श्री की पूजा-वंदना करने के बाद ही कार्य की शुरूआत करते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि आचार्य श्री की प्रेरणा से श्रमदान, पौधरोपण, गौ-सेवा से सार्थक जीवन के मूल्य को पाया जा सकेगा।

Share.

About Author

Leave A Reply