About us

शिवराज सिंह को धमकी देने के आरोप में पुलिस ने दो सगे भाइयों को पकड़ा

0

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को धमकी देने के आरोप में पुलिस ने दो सगे भाइयों को पकड़ा है। आरोपियों ने दो से सात अगस्त के बीच पांच बार ट्विटर पर मुख्यमंत्री को धमकी दी थी। साइबर पुलिस दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि एक आरोपी का नाम जितेंद्र है। बीती 18 मई को ही वह पाकिस्तान की जेल से छूटकर भारत आया है। करीब छह साल तक वह पाकिस्तान की जेल में बंद था। दोनों भाइयों को उनके घर सिवनी जिले के बरघाट गांव से गिरफ्तार किया गया है, फिलहाल पुलिस दोनों युवकों से पूछताछ कर रही है।

साइबर सेल की शुरुआती पूछताछ में आराेपी ने बताया कि जब वो पाकिस्तान की जेल से छूटकर भारत आया था तो प्रदेश सरकार ने उसे मदद का भरोसा दिया था। लेकिन, ढाई महीने बाद भी सरकार की तरफ से उसे कोई सहायता नहीं दी गई। इसलिए, उसने मुख्यमंत्री को धमकी दी। फिलहाल, पुलिस दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है। रात तक मामले में और खुलासा होने की संभावना है।

12 अगस्त 2013 में चला गया था पाकिस्तान

 गिरफ्तार किये गए युवक में से एक पाकिस्तान की जेल में रहा है, कुछ महीनों पहले ही उसकी रिहाई हुई दी और देश वापसी हुई थी। जितेंद्र अनजाने में एलओसी पार पाकिस्तान पहुंच गया था। पाकिस्तानी सीमा सुरक्षा एजेंसियों ने 15 साल के जितेंद्र को 12 अगस्त 2013 में भारतीय सीमा से 35 किलोमीटर दूर सिंध छावनी के पास से गिरफ्तार किया था। बाद में उसे जुवेनाइल जेल में बंद कर दिया गया। उसे पाकिस्तान की अदालत ने एक साल की सजा सुनाई थी। जितेंद्र सिकल सेल एनीमिया से पीड़ित है। अब तक वह कराची की मलिर जेल में बंद था। अप्रैल 2018 के पहले सप्ताह में सिवनी पुलिस अधीक्षक ने पाक जेल में बंद जितेंद्र की भारतीय नागरिकता के दस्तावेज प्रमाणित कर विदेश मंत्रालय को भेजे थे। भारतीय नागरिकता की पुष्टि होने के बाद पाकिस्तान सरकार ने उसे पाक जेल से रिहा करने का फैसला लिया और मई 2018 में वो अपने गांव पहुंचा था।
Share.

About Author

Leave A Reply