About us

हिंदू समाज को बांटने की साजिश हो रही है, पुलिस इंटेलीजेंस इसे रोकने में नाकाम – रघुनंदन शर्मा

0

मध्यप्रदेश में हिंदू समाज को बांटने की साजिश हो रही है, पुलिस इंटेलीजेंस इसे रोकने में नाकाम है। जैसी सतर्कता और मुस्तैदी 10 अप्रैल को रखी गई, वैसे 2 अप्रैल को भारत बंद के दौरान रखी जाती तो मध्यप्रदेश में हिंसा नहीं होती और 8 लोगों को अपनी जान नहीं गंवानी पड़ी। ये कहना है राज्यसभा के पूर्व सदस्य और भाजपा के वरिष्ठ नेता रघुनंदन शर्मा का। उन्होंने अपनी ही सरकार पर निशाना साधते हुए इसे पुलिस इंटेलीजेंस की नाकामी करार दिया है। उन्होंने कहा है कि प्रदेश में विदेशी और देश को बांटने वाली ताकतें साजिश कर रही रही हैं। भाजपा शासित राज्यों में ही बंटवारे की साजिश चल रही है, इसे रोकने में पुलिस इंटेलीजेंस नाकाम रही है। अधिकारियों की शिथिलता की वजह से 8 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी हैं।

-बता दें कि प्रदेश के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने मंगलवार को कहा था कि प्रदेश में 2 अप्रैल को भारत बंद के दौरान हुई हिंसा इंटेलीजेंस का फेल्योर नहीं है। जबकि अब भाजपा के ही वरिष्ठ नेता रघुनंदन शर्मा इसे नकार रहे हैं।

बाबाओं को राज्यमंत्री का दर्जा देने पर हुए थे नाराज
-दो दिन पहले भी प्रदेश में 5 बाबाओं को राज्यमंत्री मंत्री का दर्जा दिए जाने पर रघुनंदन शर्मा ने कड़ी आपत्ति जताई थी। उन्होंने कहा था कि प्रदेश में बहुत सारे साधु और संत हैं, जो इनसे बेहतर काम कर रहे हैं, उन्हें राज्यमंत्री का दर्जा दिया जाना चाहिए। जबकि विवादित लोगों को उपेक्षित किया जाना चाहिए, सरकार को उन्हें किसी भी तरह की सुविधाओं से वंचित रखना चाहिए, क्योंकि इससे सरकार की छवि भी धूमिल होती है।
Share.

About Author

Leave A Reply