About us

हॉस्टल में बच्चों के यौन शोषण और मारपीट का मामला सामने आया

0
एक सरकारी स्कूल के हॉस्टल में बच्चों के यौन शोषण और मारपीट का मामला सामने आया है। हालांकि इस मामले में पुलिस ने सिर्फ मारपीट का केस दर्ज किया है। वहीं एक NGO ने मीडिया के सामने कई सनसनीखेज राज उजागर किए।
बच्चों ने सुनाई आपबीती…
उपनगर बैरागढ़ के शासकीय माध्यमिक शाला हॉस्टल के वार्डन अजय शर्मा पर हॉस्टल में रहने वाले करीब 15 नाबालिग लड़कों के साथ यौन और शारीरिक शोषण का आरोप लगा है। हालांकि इस मामले में अभी पुलिस ने मारपीट का मामला दर्ज किया है। थाना प्रभारी सुधीर अरजरिया का कहना है कि मुस्कान NGO की शिकायत के आधार पर जांच की जा रही है। फिलहाल आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।
NGO ने किया खुलासा…
मुस्कान NGO ने सोमवार को इस मामले में प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की गई। इसमें सामाजिक कार्यकर्ता अंजुम बानो ने मीडिया को बताया कि बैरागढ़ स्थित शासकीय सरकारी स्कूल के हॉस्टल में अजय शर्मा नाम का एक वार्डन है, जो 7 से 11 वर्ष के करीब पंद्रह से ज्यादा लड़कों का यौन एवं शारीरित शोषण कर चुका है।
देर रात आता था कमरे में
अंजुम बानो का आरोप है कि शर्मा पहले शासकीय स्कूल का शिक्षक था, लेकिन दीपावली पर्व के बाद उसे हॉस्टल का वार्डन बनाया गया। आरोप है कि अजय शर्मा के हॉस्टल वार्डन बनने के बाद बच्चों के साथ दहशतपूर्ण व्यवहार शुरू हो गया था। अंजुम ने शारीरिक शोषण का शिकार हुए बच्चों के बयान के आधार पर बताया कि अजय शर्मा उनके कमरे में रात को देर से आता है और शोषण करता था।
बच्चों के साथ मारपीट करते हैं शर्मा
बच्चों का कहना है कि हॉस्टल वार्डन अजय शर्मा उनका अश्लील वीडियो भी बनता था। अंजुम का आरोप है कि जब बच्चे, वार्डन अजय की प्रताड़ना का विरोध करते हैं, तो वे बच्चों को जान से मारने की धमकी देता है। अंजुम बानो ने मीडिया के सवाल के जवाब में कहा कि अजय शर्मा ने बच्चों के साथ मारपीट की है। इससे बच्चों के कोहनी, कूल्हा, अंगुली की जोड़ों में गंभीर चोटें आई हैं। कुछ दिनों पहले प्रताड़ित बच्चों के पालक ने NGO की मदद से इस घटना की शिकायत चाइल्ड लाइन, शिक्षा विभाग सहित बैरागढ़ थाने को दी थी।
कार्रवाई नहीं कर रही है पुलिस
आरोप है कि बैरागढ़ थाने में शिकायत करने के तीन दिनों बाद भी आरोपी अजय शर्मा के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज नहीं हुई थी। चौथे दिन रिपोर्ट दर्ज होने के बाद जब एसपी नार्थ अरविंद सक्सेना से शिकायत की गई, तो रविवार को बैरागढ़ पुलिस ने अजय शर्मा के खिलाफ सिर्फ नाबालिगों के साथ मारपीट करने का मामला दर्ज किया है। अंजुम बानो का कहना है कि अजय शर्मा ने बच्चों के साथ यौन शोषण किया है। बच्चों ने अपने बयान में इस बात को कबूला है, फिर भी पुलिस अजय शर्मा के खिलाफ पॉस्को एक्ट के तहत कार्रवाई नहीं कर रही।
पॉस्को कानून के तहत दर्ज हो मामला
अंजुम बानो का आरोप है कि बैरागढ़ पुलिस बच्चों का यौन शोषण करने वाले आरोपी अजय शर्मा का पक्ष लेकर उसे बचाने का प्रयास कर रही है। उन्होंने मांग की है कि आरोपी अजय शर्मा के खिलाफ दर्ज एफआईआर में पॉस्को कानून के तहत सेक्शन 17, 7, 9 आदि को भी जोड़ा जाए। इसके साथ ही आरोपी अजय शर्मा को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए। इतना ही नहीं यौन एवं शारीरिक शोषण का शिकार हुए नाबालिग बच्चों को सरकार की तरफ से मुआवजा दिया जाए। इसी के साथ प्रदेश के सभी शासकीय हॉस्टल में हो रही ऐसी घटनाओं की पैनी निगरानी कर उन पर रोक लगाए जाने की मांग उठाई है।
Share.

About Author

Leave A Reply