श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टेस्ट के बाद साहा की विकेटकीपिंग की जबरदस्त तारीफ हो रही

0
एमएस धोनी के टेस्ट क्रिकेट से रिटायरमेंट के बाद टीम में उनकी जगह ली बंगाल के विकेटकीपररिद्धिमान साहा ने। टीम में धोनी की जगह भरना आसान नहीं था, लेकिन अब करीब 2.5 साल में साहा खुद को टीम में बतौर विकेटकीपर-बैट्समैन साबित कर चुके हैं। श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टेस्ट के बाद साहा की विकेटकीपिंग की जबरदस्त तारीफ हो रही है। पूर्व इंडियन क्रिकेटर सुनील गावसकर ने भी उन्हें बेहद सेफ विकेटकीपर बताया है। कभी 2012 में धोनी के सस्पेंड होने के कारण साहा को टीम इंडिया के लिए बतौर विकेटकीपर खेलने का मौका मिला था। इसके बाद वापसी में उन्हें करीब 3 साल का समय लग गया था।
– 2012 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज में धोनी को एक मैच के लिए सस्पेंड कर दिया गया था। ऐसा स्लो ओवर रेट के कारण हुआ था।
– तब चौथे टेस्ट में धोनी के बाहर होने के बाद 24 जनवरी, 2012 को साहा ने टीम इंडिया में बतौर विकेटकीपर एंट्री की थी। हालांकि, एक मैच बाद ही साहा को बाहर भी कर दिया गया था।
– ये साहा के करियर का दूसरा टेस्ट मैच था, जिसमें उन्होंने कुल 38 रन बनाए थे। मैच में उन्होंने 2 कैच भी लिए थे।
– इससे पहले रिद्धिमान साहा ने फरवरी, 2010 में टीम इंडिया के लिए टेस्ट डेब्यू किया था, लेकिन कीपिंग का मौका नहीं मिला था। इस मैच में धोनी भी खेले थे।
3 साल बाद हुई वापसी
– 2012 में धोनी पर एक मैच का बैन लगने के कारण मिले मौके को साहा भुना नहीं पाए। इसके बाद टीम में आने में उन्हें 3 साल का वक्त लग गया।
– उन्होंने अगला और करियर का तीसरा टेस्ट मैच 9 दिसंबर, 2014 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला। तब भी धोनी चोट की वजह से टीम में शामिल नहीं थे।
– इस सीरीज के बीच में ही धोनी ने टेस्ट से रिटायरमेंट ले लिया था। सीरीज के आखिरी टेस्ट में एक बार फिर साहा टीम में थे और तब से लगातार वो टीम के रेग्युलर विकेटकीपर हैं।
धोनी ने कभी नहीं की स्लेजिंग
– स्लेजिंग के बारे में पूछे जाने पर साहा ने कहा कि उन्होंने कभी पूर्व टेस्ट विकेटकीपर एमएस धोनी को ऐसा करते नहीं देखा। उन्होंने कहा, ‘मैंने कभी धोनी को स्लेजिंग करते नहीं देखा, इसलिए ऐसा करना जरूरी नहीं है। कई बार विपक्षी खिलाड़ी को कन्फ्यूज करने के लिए ऐसा करते हैं, लेकिन खराब पिच या खराब शॉट जैसी बातें कहकर भी आप गेम में ट्विस्ट ला सकते हैं।’
ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी है फेवरेट
– साहा के आइडियल विकेटकीपर ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी एडम गिलक्रिस्ट हैं। साहा ने बताया, ‘बचपन से ही मैं गिलक्रिस्ट की बैटिंग और कीपिंग को फॉलो करता था। मार्क बाउचर और इयान हिली भी अच्छे कीपर थे, लेकिन मेरे फेवरेट एडम गिलक्रिस्ट ही हैं।’
Share.

About Author

Leave A Reply