अफ्रीकी देश तंजानिया में मिला मलबा 30 महीने पहले लापता हुए प्लेन (MH370)

मलेशिया सरकार ने कहा है कि अफ्रीकी देश तंजानिया में मिला मलबा 30 महीने पहले लापता हुए उनके प्लेन (MH370) का है। ये एयरक्राफ्ट 8 मार्च 2014 को कुआलालम्पुर से बीजिंग जाते वक्त लापता हो गया था। हादसे में क्रू समेत 239 पैसेंजर्स की मौत हो गई थी। जून में तंजानिया के पेम्बा इलाके में एक एयरक्राफ्ट का मलबा मिला था। तीन महीने की जांच के बाद सर्च ऑपरेशन में लगे अफसरों ने अब यह कन्फर्म किया है कि ये मलबा MH370 का ही है। सर्च ऑपरेशन पर करीब 912 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं।
– मलेशियन ट्रांसपोर्ट मिनिस्ट्री ने कहा- जांच के लिए एयरक्राफ्ट के टुकड़े ऑस्ट्रेलिया भेजे गए थे।
– टुकड़ों पर लिखे नंबर, डेट और स्टाम्प सहित कई चीजों की जांच के बाद ये साफ हो गया कि ये MH370 का ही मलबा है।
– जांच करने वाली टीम को उम्मीद है कि कुछ ऐसे भी सबूत मिलेंगे जो हादसे की वजहों को साफ कर सकते हैं।
– सबसे पहले प्लेन के हिन्द महासागर में क्रैश होने का शक जताया जा रहा था लेकिन इसके सबूत नहीं मिले।
तलाश में खर्च हो चुके हैं 912 करोड़ रुपए
– मलेशिया ने दो महीने पहले चीन और ऑस्ट्रेलिया के साथ एक स्टेटमेंट जारी कर कहा था कि प्लेन का सर्च ऑपरेशन बंद किया जा रहा है।
– मलेशिया, ऑस्ट्रेलिया और चीन ने 120,000 स्क्वेयर किमी. में तलाश पूरी करने के बाद सर्च रोकने का फैसला लिया था।
– मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सर्च ऑपरेशन पर करीब 137 मिलियन डॉलर (912 करोड़ रु.) खर्च हो चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *