About us

”आतंकियों को शहीद कह कर महिमामंडितकरना गलत है।” – राजनाथ

0

पाकिस्तान में होम मिनिस्टर्स के सार्क कॉन्फ्रेंस में भारत-पाक के बीच सिर्फ तल्खी दिखी। गुरुवार को प्रोग्राम शुरू हुआ तो दोनों देशों के होम मिनिस्टर्स आमने-सामने तो हुए, पर फॉर्मल हैंडशेक तक नहीं किया। प्रोग्राम में राजनाथ की स्पीच के टेलिकास्ट पर रोक लगा दी। इसके बाद राजनाथ ने वहां के होम मिनिस्टर चौधरी निसार की ओर से दिया गया लंच छोड़ दिया। दिल्ली लौट आए। शुक्रवार को वे संसद में पाक दौरे पर बयान देंगे। बता दें कि 1947 में बंटवारे के बाद ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी भारतीय मंत्री ने पाकिस्तान को उसकी जमीन पर ही इस तरह लताड़ लगाई हो। पाक में जाकर PAK को जमकर लताड़ा, ऐसे दिखाई ‘बहादुरी’…
1# दोपहर 12:15 बजे : राजनाथ ने फॉर्मल हैंडशेक नहीं किया

– पाक होम मिनिस्टर कॉन्फ्रेंस वेन्यू पर सबका वेलकम कर रहे थे। राजनाथ वहां पहुंचे।
– दोनों मंत्रियों ने बमुश्किल से एक-दूसरे का हाथ छुआ। फॉर्मल हैंडशेक नहीं किया।
– पीटीआई के मुताबिक, जैसे ही राजनाथ आए, वे निसार से मिले और तुरंत आगे बढ़ गए।
2# दोपहर 2 बजे : आतंकवाद के मुद्दे पर पाक को घेरा
– कश्मीर में मारे गए आतंकी बुरहान वानी के मुद्दे पर कहा- ”आतंकियों को शहीद कह कर महिमामंडित करना गलत है।”
– पाकिस्तान का नाम लिए बिना कहा- अच्छा और बुरा आतंकवाद नहीं होता।
– पठानकोट, काबुल और ढाका जैसे हमलों का जिक्र करते हुए कहा, ”आतंकवादियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जरूरत है।”

– सार्क में राजनाथ की स्पीच को पाकिस्तान सरकार ने टेलिकास्ट से रोक दिया।
– केवल पाकिस्तानी सरकारी चैनल पीटीवी को स्पीच कवर करने की इजाजत थी।
– इंडियन मीडिया ही नहीं, पाकिस्तान के प्राइवेट चैनल को भी इसकी कवरेज की इजाजत नहीं मिली।
– नई दिल्ली से आई इंडियन मीडिया को दूर रखा गया। इसे लेकर पाकिस्तानी अफसरों से कहासुनी भी हुई।
4# दोपहर 2.53 बजे : राजनाथ ने खाना नहीं खाया

– समझा जा रहा है कि स्पीच की कवरेज रोके जाने से नाराज राजनाथ सिंह ने लंच छोड़ दिया।
– सार्क कॉन्फ्रेंस के मेजबान देश के तौर पर पाकिस्तानी होम मिनिस्टर चौधरी निसार ने लंच दिया था। वह भी वहां नहीं पहुंचे।
– इसके बाद राजनाथ भारत के लिए रवाना हो गए।
क्या है सार्क?

– SAARC (साउथ एशियन एसोसिएशन फॉर रीजनल को-ऑपरेशन) साउथ एशिया के 8 देशों का इकोनॉमिक और पॉलिटिकल ऑर्गनाइजेशन है।
– इसकी शुरुआत 8 दिसंबर, 1985 को बांग्लादेश की राजधानी ढाका में भारत, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश, श्रीलंका, नेपाल, मालदीव और भूटान ने मिलकर की थी।

राजनाथ सिंह ने इस्लामाबाद में सार्क कॉन्फ्रेंस में जमकर पाकिस्तान को लताड़ लगाई। सोशल मीडिया पर राजनाथ के जेस्चर और एक्शन की जमकर तारीफ हो रही है। वहीं, कुछ लोग पाकिस्तान का मजाक उड़ा रहे हैं। बता दें कि गुरुवार को इस्लामाबाद में उन्होंने पाकिस्तान के होम मिनिस्टर से फॉर्मल हैंडशैक तक नहीं किया। स्पीच देने के बाद भारतीय गृह मंत्री ने वहां खाना तक नहीं खाया और दिल्ली लौट आए।
– केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा, ”यही पाकिस्तान की डेमोक्रेसी है। दुनिया देख रही है।”
– कांग्रेस नेता संजय झा ने एक न्यूज चैनल पर कहा, ”पाक लगातार कश्मीर मुद्दे पर भारत के मामलों में दखलंदाजी कर रहा है, इससे पाक का असली सच सामने आ रहा है।”
– वहीं, जनरल बख्शी ने कहा, ”1971 की जंग के बाद पाक ने फिर वैसा रवैया अपना रहा है। हमें इस समिट को कैंसल करने की मांग करनी चाहिए थी।”
– ”पाक जिस तरह से कश्मीर का मुद्दा उठा रहा है वह रास्ता युद्ध की ओर जाता है।”
Share.

About Author

Leave A Reply