About us

कांग्रेस ने 13 साल से प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा की सरकार को उखाड़ फेंकने का आह्वान किया

0
कांग्रेस ने बुधवार को अपने कार्यकर्ताओं से 13 साल से प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा की सरकार को उखाड़ फेंकने का आह्वान किया। न्यू मार्केट स्थित टिनशेड पर हुई सभा में कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं पूर्व केंद्रीय मंत्री कमलनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एक साथ सीएम शिवराज सिंह चौहान पर हमला किया।
कांग्रेसियों ने सीएम और पीएम पर लगाए आरोप
कांग्रेस नेताओं ने अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम शिवराज सिंह चौहान एवं उनके परिजन पर आरोप लगाए। वक्ताओं ने चौहान और उनके परिजन पर रेत खनन और अन्य घोटालों में लिप्त होने के आरोप लगाए।
 घेराव के लिए निकले कार्यकर्ता
सभा के बाद जब कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता विधानसभा का घेराव करने निकले तो पुलिस ने उन्हें खदेड़ दिया, इस दौरान झूमाझटकी भी हुई। कांग्रेस के शक्ति प्रदर्शन में लगभग तीन साल बाद एक मंच पर एकत्र हुए सभी वरिष्ठ नेताओं ने कहा कि वे हर कदम पर साथ हैं और एक साथ रहेंगे। इनमें कमलनाथ, दिग्विजय, सिंधिया के साथ ही राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी और कांतिलाल भूरिया भी शामिल थे।
-पुलिस का पहला घेरा तोड़कर आगे बढ़े कांग्रेस कार्यकर्ता।
-बैरिकेड्स पर चढ़े दिग्विजय सिंह को पुलिस ने धक्का देकर नीचे उतारा।
-पुलिस ने कांग्रेसियों पर किया लाठीचार्ज तो कांग्रेसियों ने मारे पत्थर, इससे एक पुलिस कर्मी घायल हो गया।
-लाठीचार्ज से मची थी भगदड़।
-प्रदर्शन के मद्देनजर शहर में कई जगह घंटों लगा रहा जाम।
-कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह, कमलनाथ, सिंधिया और अरुण यादव को पुलिस ने किया गिरफ्तार।
-कांतिलाल भूरिया और शोभा ओझा को भी पुलिस ने किया गिरफ्तार।
– पुलिस बसों में भरकर ले जाए गए दिग्गज नेताओं समेत सैकड़ों कार्यकर्ता।
-कांग्रेस दिग्गज जब एयरपोर्ट पर पहुंचे तो कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने वहां भी जमकर हंगामा किया।
गुटबाजी पर बरसे बरार
-युवक कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजा बरार ने सीनियर लीडर्स को दी नसीहत, असली ताकत बैरिकेड्स पर दिखाएं। वे अनुशासनहीनता और गुटबाजी पर जमकर बरसे थे।
-पुलिस ने हजारों कार्यकर्ताओं को शहर के बाहर ही रोका।
-सिंधिया के पक्ष में नारेबाजी करते हुए मंच तक पहुंचे समर्थकों के कारण बिगड़ी व्यवस्था।
-सिंधिया ने हाथ जोड़कर समर्थकों को शांत कराया।
-इससे पहले श्यामला हिल्स स्थित दिग्विजय के बंगल पर जमा हुए समर्थक।
 दिग्विजय सिंह-
दिग्विजय सिंह ने सभा में मुख्यमंत्री पर निजी आरोप लगाते हुए कहा कि, सीएम और उनका परिवार रेत खनन, व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापमं) और पोषणाहार घोटाले में शामिल हैं। मैं चुनौती देता हूं कि मुख्यमंत्री इस मामले को अदालत में ले जाएं, मैं वहां इसे साबित कर दूंगा। जिस किसी भी व्यक्ति के पास भाजपा के खिलाफ सबूत है वह सीधे आकर मुझसे मिले। मैं हर बुराई झेलने को तैयार हूं। भाजपा का भंडाफोड़ करने में कोई कसर नहीं छोडूंगा।
कमलनाथ
कमलनाथ ने कहा कि 1990 में स्व अर्जुन सिंह, स्व माधवराव सिंधिया, दिग्विजय सिंह और स्वयं उन्होंने भाजपा सरकार को बेनकाब किया था। ऐसा ही इस बार होगा। उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर सरकार द्वारा झूठे मुकदमे लादने का आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस की सरकार बनने पर पहली कैबिनेट में ऐसे सभी झूठे प्रकरण समाप्त किए जाएंगे। कांग्रेस सरकार किसानों के कर्जे माफ करेगी। साथ ही नौजवानों और व्यापारियों के हितों का ध्यान रखा जाएगा।
 सिंधिया-
सांसद ज्योतिरादित्या सिंधिया ने मुख्यमंत्री द्वारा निकाली जा रही नर्मदा सेवा यात्रा पर निशाना साधते हुए कहा कि इसमें वे सर्वेयर की भूमिका निभा रहे हैं। सीएम दिन में सर्वे करते हैं और रात में खनन।
अजय सिंह-
मध्य प्रदेश के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने आमसभा में कहा कि प्रदेश में अवैध रेत उत्खनन का कारोबार तेजी से हो रहा है। लेकिन, सरकार दिखावटी कार्रवाई कर रही है, जिसके कारण छोटे रेत व्यापारियों को परेशान किया जा रहा है।
मीनाक्षी नटराजन-
वरिष्ठ कांग्रेस नेत्री मीनाक्षी नटराजन ने कहा कि सीएम शिवराज सिंह चौहान कांग्रेस पार्टी की एकजुटता देखकर परेशान है। यही कारण है कि लोकतंत्र के खिलाफ जाते हुए सरकार ने हजारों कांग्रेस कार्यकर्ताओं को शहर के बाहर से रोक दिया।
Share.

About Author

Leave A Reply