”कुछ मुख्यमंत्रियों को फोन लेकर जाने की इजाजत देना और कुछ को नहीं, ये भेदभाव है।”- केजरीवाल

0
अरविंद केजरीवाल ने दावा किया है कि पिछले दिनों हुई इंटर स्टेट काउंसिल की मीटिंग में उनका मोबाइल फोन बाहर रखवा लिया गया। 10 साल के बाद इस तरह की मीटिंग हुई थी। बीते शनिवार हुई इस मीटिंग की अध्यक्षता मोदी ने की थी। अपने साथ हुए इस बर्ताव से केजरीवाल काफी खफा हैं।
– केजरीवाल ने कहा, ”मीटिंग से पहले सीएम ममता बनर्जी और उनके साथ कुछ चुनिंदा मुख्यमंत्रियों से फोन बाहर रखने को कहा गया।”
– ”ममता बनर्जी को बोलने की इजाजत नहीं दी गई, जबकि मेरे भाषण के दौरान बार-बार रोक-टोक की गई।”
– ”कुछ मुख्यमंत्रियों को फोन लेकर जाने की इजाजत देना और कुछ को नहीं, ये भेदभाव है।”
– ”मैंने अपने भाषण में इसे लेकर एतराज जताया। मैंने पीएम से पूछा कि क्या मेरे फोन रखने से उनकी सेफ्टी को खतरा है?”
ममता ने किया था विरोध
– केजरीवाल ने कहा कि ममता बनर्जी ने विरोध में कहा था कि अगर उन्हें मीटिंग के अंदर फोन ले जाने की इजाजत नहीं दी गई तो वे मीटिंग से चली जाएंगी। इसके बाद वे फोन ले जा सकीं।
– उन्होंने कहा कि अगर विपक्ष की आवाज सुननी ही नहीं थी तो मोदी जी को हमें बुलाना ही नहीं चाहिए था।
– दिल्ली में मंगलवार शाम एक बुक लॉन्च के दौरान केजरीवाल ने ये दावे किए।
Share.

About Author

Leave A Reply