प्रणब मुखर्जी ने शुक्रवार को संघ प्रमुख मोहन भागवत को राष्ट्रपति भवन में लंच पर बुलाया

0
प्रेसिडेंट इलेक्शन की सरगर्मियों के बीच प्रणब मुखर्जी ने शुक्रवार को संघ प्रमुख मोहन भागवत को राष्ट्रपति भवन में लंच पर बुलाया। भागवत उत्तराखंड से दिल्ली पहुंचे। यहां वे राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के ट्रेनिग प्रोग्राम में हिस्सा लेने पहुंचे थे। इससे पहले भागवत और प्रणब मुखर्जी की मुलाकात दिवाली पर हुई थी। बता दें कि राष्ट्रपति चुनाव के लिए नॉमिनेशन की प्रॉसेस शुरू हो गई है। यह 28 जून तक चलेगी, स्क्रूटनी 29 जून को होगी। जरूरी हुआ तो 17 जुलाई को प्रेसिडेंट इलेक्शन के लिए वोटिंग होगी और फिर 20 जुलाई को काउंटिंग की जाएगी।
– प्रेसिडेंट प्रणब मुखर्जी और मोहन भागवत के बीच करीब डेढ़ घंटे मुलाकात चली।
– शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को कहा- ”राष्ट्रपति के लिए मोहन भागवत हमारी पहली पसंद हैं। अगर किसी को इसमें आपत्ति है तो हम एमएस स्वामीनाथन के नाम का भी प्रस्ताव रखते हैं।” एमएस स्वामीनाथन को देश में हरितक्रांति का जनक माना जाता है।
– बता दें कि महाराष्ट्र और केंद्र सरकार में बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना पहले भी संघ प्रमुख के नाम का प्रस्ताव रख चुकी है। हालांकि खुद भागवत ने इससे इनकार कर दिया था। प्रणब मुखर्जी भी दूसरा टर्म नहीं चाहते हैं।
सोनिया-येचुरी से मिले BJP नेता
– राष्ट्रपति चुनाव के मद्देनजर शुक्रवार को राजनाथ सिंह और वेंकैया नायडू ने सोनिया गांधी से मुलाकात की। 10 जनपथ पर इन नेताओं के बीच करीब 30 मिनट चर्चा हुई। बाद में राजनाथ-वेंकैया लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी से भी मिलने पहुंचे।
– कांग्रेस ने कहा, “बीजेपी की तरफ से कोई नाम नहीं आया। जब तक नाम नहीं आता, चर्चा का सवाल ही पैदा नहीं होता।” बीजेपी के दोनों नेता इसके बाद सीपीएम के जनरल सेक्रेटरी सीताराम येचुरी से भी मिले। येचुरी ने राष्ट्रपति उम्मीदवार को सपोर्ट करने के लिए एक शर्त रखी कि जिसे भी कैंडिडेट बनाएं, वह सेकुलर सोच वाला होना चाहिए।
Share.

About Author

Leave A Reply