मैं भगवान को हाजिर-नाजिर मानकर शपथ लेता हूं कि कभी भीअपनी पवित्र पार्टी और आंदोलन को धोखा नहीं दूंगा – केजरीवाल

0
MCD इलेक्शन में हार के बाद अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को एक मीटिंग की। मीटिंग में AAP MLAs मौजूद थे। सीएम हाउस पर MCD इलेक्शन में जीतने वाले 48 पार्षद भी पहुंचे। केजरीवाल ने इन पार्षदों को मीटिंग में ही शपथ दिलवाई। केजरी ने कहा, “सभी शपथ लें कि मैं भगवान को हाजिर-नाजिर मानकर शपथ लेता हूं कि कभी भी अपनी पवित्र पार्टी और आंदोलन को धोखा नहीं दूंगा।” दिल्ली के सीएम ने कहा कि अगर किसी ने पार्टी को धोखा दिया तो वो जीवन में कभी खुश नहीं रह पाएगा।
1# भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठानी है, डरना नहीं
– केजरीवाल ने मीटिंग में पार्षदों को टिप्स दिए। उन्होंने कहा, “आप जहां जा रहे हैं, वो भ्रष्टाचार का गढ़ है। आपको खुद तो ईमानदार रहना ही है, आसपास भी नजर रखनी है। वहां, भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठानी है। वो जेल में भी डालेंगे, क्योंकि पुलिस उनके पास है, एंटी करप्शन उनके पास है। हो सकता है कि आप आवाज उठाओ और आपको ही जेल में डाल दें। वो सब करेंगे, उससे डरना नहीं है।”
2# आपने टिकट नहीं खरीदी है, आप ईमानदार रह सकते हो
– केजरीवाल ने कहा, “दूसरी पार्टी में टिकट खरीदी जाती है, चुनाव में खर्च किया जाता है। फिर जीतते हैं तो पहले ही दिन से सब वसूला जाता है। आपने टिकट नहीं खरीदी है। आप चाहो तो ईमानदार रह सकते हो, ये जरूरी है।”
3# वॉलेंटियर्स मुंह पर गाली भी देंगे, उन्हें भी मनाना है
– “वॉलेंटियर्स रीढ़ की हड्डी हैं। उनके सारे काम करने ही होंगे। जो वॉलेंटियर आपके लिए किसी गली में जाकर वोट मांगता है। अगर उस गली में कोई वॉलेंटियर से कोई काम बोलता है और वो आपके पास आता है। आप उसका काम नहीं करते हो, तो वो उस गली में शक्ल दिखाने लायक नहीं बचता है। उसका काम सबसे पहले करना है। वॉलेंटियर्स से बनाकर चलना है। कुछ वॉलेंटियर्स आपको मुंह पर गाली भी देंगे, उन्हें भी मनाना है। आप उस वार्ड के एक तरह से पिता हो। घर के अंदर बच्चे होते हैं, शरारती। कोई ये थोड़े कहता है कि घर के बाहर जाओ। किसी को भी निकालना नहीं है। जो रूठ कर चले गए, उनको भी जोड़ लोगे तो बड़े बनोगे।”
4# MLA से बनाकर रखना है
– “MLA से बनाकर रखना है। कोई आपके पास काम लेकर आएगा, तो वो ये थोड़े ही देखेगा कि आप पार्षद हो या MLA, वो सभी तरह के काम लेकर आएगा। अब MLA अलग काम कर रहा है और आप अलग काम कर रहे हो, तो दोनों अलग-अलग पार्टी हो गए ना। बनाकर रखोगे तो सारे काम होंगे। नीचे और ऊपर सबसे बनाकर रखनी है।”
5# बीजेपी वाले तोड़ने की कोशिश करेंगे, फोन रिकॉर्डिंग पर रखना
– “बीजेपी वाले आपको तोड़ने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने फोन हमेशा रिकॉर्डिंग पर ही रखना। किसी का फोन आए तो रिकॉर्ड कर लेना। हम प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बता दें कि इन्होंने ऐसी बदमाशी की है।”
6# चमत्कार हुआ कि भगवान ने हमें सीएम- डिप्टी सीएम बनाया
– “हम जो यहां बैठे हैं। हमारी कोई औकात नहीं थी। चार साल पहले हम भी ऐसे ही गलियों में घूमा करते थे। ये तो कोई चमत्कार ही हुआ कि भगवान ने हमें सीएम और डिप्टी सीएम बना दिया। हमारी हैसियत क्या है, कुछ नहीं।”
7# धोखा दिया, तो जिंदगी में सुख नहीं मिलेगा
– केजरी ने कहा, “अगर किसी ने इस आंदोलन को धोखा दिया, तो ये सोचना भगवान को धोखा दे रहे हो। ये पवित्र आंदोलन है, इससे जुड़े लोग पवित्र हैं। कोई आपको लालच दे दे। इनके पास बहुत पैसा है, कुछ भी दे सकते हैं। आप अगर आंदोलन, पार्टी और लोगों की उम्मीद को धोखा देकर गए तो जिंदगी में सुखी नहीं रह पाओगे।”
8# सफाई कर्मचारियों को बहन-भाई बना लो
– “सफाई कर्मचारी बहुत गरीब और शोषित हैं। उनका खास ख्याल रखना है। उनको बहन-भाई बनाकर चलोगे, तो वो आपका सारा काम कर देंगे। उनके साथ बैठकर रोटी खाओ, अपने घर बनाओ, उनके साथ परिवार का रिश्ता कर लो। उनका हर तरफ से शोषण हो रहा है। उनके साथ बनाकर चलना, वो सबसे बड़े आपके सिपहसालार होंगे। आपको ट्रेनिंग दिलवाई जाएगी, ताकि आप इफेक्टिव काम कर सकें।”
गोपाल राय होंगे दिल्ली के नए संयोजक
– न्यूज एजेंसी के मुताबिक, इस मीटिंग में गोपाल राय को दिल्ली के नए संयोजक बनाए जाने का फैसला किया गया। इसकी ऑफिशियल घोषणा PAC की मीटिंग के बाद की जाएगी। बता दें कि बुधवार को दिल्ली संयोजक दिलीप पांडे ने अपनी पोस्ट से इस्तीफा दे दिया था।
MLAs की मीटिंग में क्या हुआ?
– MLA विशेष रवि ने कहा, “मीटिंग में यह फैसला लिया गया कि विधायक वापस लोगों के बीच जाएंगे और जानने की कोशिश कि कहां उनके और जनता के बीच कम्युनिकेशन गेप रहा। मीटिंग में ईवीएम के साथ गड़बड़ी के मुद्दे पर भी चर्चा हुई। पार्टी जल्द ही इस पर कदम उठाएगी। फिलहाल इस बारे में सबूत जुटाए जा रहे हैं।
– MLA नितिन त्यागी ने कहा, “हमें अपने क्षेत्रों में ग्राउंड लेवल पर काम करने की जरूरत है। मुझे लगता है कि विधायकों और जनता के बीच एक कम्युनिकेशन गैप रह गया। हम लोगों तक सही ढंग से दिल्ली सरकार के अच्छे कामों की जानकारी नहीं पहुंचा पाए।”
Share.

About Author

Leave A Reply