About us

स्वतंत्रता दिवस पर जम्मू कश्मीर में जबरदस्त आतंकी खतरा

0
स्वतंत्रता दिवस पर जम्मू कश्मीर में जबरदस्त आतंकी खतरा मंडराया है। खतरे का आलम यह है कि एक और जहां आतंकी कार बम विस्फोटकरने की ताक में हैं तो दूसरी ओर उनके द्वारा विमान को भी हाईजैक करने की योजना बनाई जा चुकी है। नतीजतन जम्मू कश्मीर की जनता दहशतजदा हो चुकी है। सुरक्षाधिकारी कहते हैं कि ऐसी खबरें मिली हैं कि आतंकी कार बम विस्फोटों को अंजाम देने की खातिर कारों को अपहृत कर सकते हैं। इसके मद्देनजर राज्य में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। पुलिस को संदेह है कि अपहृत कारों का उपयोग आतंकवादी स्वतंत्रता दिवस के दिन 15 अगस्त को विध्वंसक गतिविधियों को अंजाम देने के लिए कर सकते हैं। स्वतंत्रता दिवस से पहले कश्मीर घाटी में प्रमुख संगठनों के आसपास सुरक्षा कड़ी कर दी गई है और ताकि इन समारोहों में बाधा डालने के आतंकवादियों के किसी भी मंसूबे को नाकाम किया जा सके। अधिकारियों ने आज बताया कि सीमा पार से घुसपैठ की कोशिशों और संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाओं में बढ़ोतरी को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था मजबूत की गई है। जम्मू-कश्मीर में स्वतंत्रता दिवस का मुख्य समारोह बख्शी स्टेडियम में होता है। समारोह के सुरक्षा उपायों के तहत सेना और सीआरपीएफ के जवानों ने स्टेडियम की वस्तुतः किलेबंदी कर दी है। शहर में और उसके बाहरी इलाकों खास तौर से राजधानी के प्रवेश स्थलों पर विशेष नाका स्थापित किए गए हैं। हालांकि इस बार श्रीनगर समेत कश्मीर के कई जिलों में आज भी 35वें दिन कर्फ्यू जारी रहने के कारण इस बार स्वतंत्रता दिवस समारोह पर आशंका के बादल छाए हुए हैं। लेकिन इतना जरूर था कि कश्मीरी इस बार कर्फ्यू के कारण सुरक्षाबलों की जांच से जरूर बचे हुए थे।
इस बीच राज्यभर में लश्करे तौयबा की योजना से निपटने की खातिर जारी किए गए रेड अलर्ट से माहौल दहशतजदा हो गया है। केंद्रीय गृहमंत्रालय से मिली सूचनाओं के बाद राज्य सरकार ने हवाई अड्डों पर खासकर चौकसी को बढ़ाया है ताकि लश्करे तौयबा की उस योजना से निपटा जा सके जिसके तहत वह राज्य में विमानों को अपहृत कर अपने साथियों को छु़ड़वाने की योजनाओं को अंजाम देना चाहता है। बताया यह भी जा रहा है कि लश्करे तौयबा विमानों के जरीए वर्ल्ड ट्रेड सेंटर जैसे हमलों को भी अंजाम देना चाहता है।
उच्च पदस्थ सूत्र बताते हैं कि लश्करे तौयबा के करीब कुछ आतंकियों को यह टारगेट सौंपा गया है। वे बताते हैं कि इन आतंकियों की तलाश में सारा अमला लगा दिया गया है क्योंकि राज्य सरकार की परेशानी यह है कि इस षड्यंत्र की सूचना किसी और ने नहीं बल्कि गृहमंत्रालय ने आप दी है जिस कारण उसकी चिंता बढ़ गई है।
राज्य में लश्करे तौयबा के कई आतंकी मारे जा चुके हैं। कई शीर्ष नेता पकड़े भी जा चुके हैं। पकड़े गए अधिकतर लश्कर आतंकियों में पाकिस्तानी नागरिक हैं जिनकी रिहाई की खातिर अब लश्करे तौयबा ने ऐसी योजना को अंजाम देने की तैयारी की है। ऐसे में राज्य सरकार के एक अधिकारी के मुताबिक, राज्य के सभी हवाई अड्डों के साथ साथ अन्यत्र महत्वपूर्ण स्थानों पर भी सुरक्षा को बढ़ाया गया है तथा स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर रेड अलर्ट जारी किया गया है।
Share.

About Author

Leave A Reply