About us

हॉस्पिटल में ही दर्शन सिंह की अटैक के कारण मौत हो गई

0
नोटबंदी के खिलाफ आक्रोश दिवस के दौरान कांग्रेसी नेताओं ने रैली निकाली और कमिश्नर दफ्तर में ज्ञापन देने पहुंचे। ग्वालियर में इस रैली का नेतृत्व जिलाध्यक्ष दर्शन सिंह कर रहे थे। रैली में दर्शन सिंह की तबीयत खराब हुई और उन्हें तुरंत हॉस्पिटल ले जाया गया। हॉस्पिटल में ही दर्शन सिंह की अटैक के कारण मौत हो गई।
– पहले से तय कार्यक्रम के मुताबिक कांग्रेस ने सोमवार को कांग्रेस ने नोटबंदी के खिलाफ विरोध प्रकट करने के लिए जुलूस निकाला।
– इस जुलूस का नेतृत्व कांग्रेस शहर के जिलाध्यक्ष दर्शन सिंह कर रहे थे। दर्शन सिंह अपने समर्थकों के साथ मोतीमहल स्थित कमिश्नर के दफ्तर ज्ञापन देने पहुंचे।
– आंदोलन के दौरान ही दर्शन सिंह को कुछ असहजता महसूस हुई, लेकिन खुद को संभाल कर कमिश्नर को ज्ञापन दे दिया।
– इसके बाद दर्शन सिंह फूलबाग जाने के लिए अपनी कार में बैठ कर रवाना हो गए, लेकिन फूलबाग पहुंचेने से पहले ही उन्हें अटैक आया, वो अचेत हो गए।
– साथी उन्हें तत्काल एक निजी अस्पताल ग्लोबल हॉस्पिटल ले गए।
– हॉस्पिटल में डॉक्टरों ने चेकअप किया और दर्शन सिंह को मृत घोषित कर दिया।
– दर्इशन सिहं के निधन की खबर से कांग्रेस में शोक का माहौल बन गया है।
– आंदोलन में प्रदर्शन के दौरान पहली किसी नेता का निधन हुआ है।
– पिछले कई दिनों से दर्शन सिंह लगातार शहर में नोटबंदी के खिलाफ आंदोलन चला रहे थे।
दर्शन सिंह के परिवार को सांत्वना देने सिंधिया दिल्ली से रवाना
– दर्शन सिंह ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक नेता नेता था। सिंधिया ने ही उन्हें जिलाध्यक्ष बनाया था। कांग्रेस की ओर से वे मेयर का चुनाव भी लड़े, लेकिन हार का सामना करना पड़ा ।
– मूल रूप से किसान दर्शन सिंह एलएलबी और पीएचडी थे, और लंबे समय से कांग्रेस की राजनीति में सक्रिय थे।
– दर्शन सिंह के निधन की सूचना मिलते ही ज्योतिरादित्य सिंधिया ग्वालियर रवाना हो गए हैं. ग्वालियर पहुंचते ही सिंधिया दर्शन के के निवास पर उनके परिजनों को धीरज बंधाने पहुंचेंगे।
Share.

About Author

Leave A Reply