About us

310 किलोमीटर के सड़क से होने वाले सफर को समुद्री रास्ते से घटाकर करीब 30 किलोमीटर कर देगी

0
चुनावी माहौल के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को फिर गुजरात जाएंगे। इस महीने यह उनका तीसरा और करीब सवा महीने में पांचवां गुजरात दौरा होगा। वह 615 करोड़ रुपए की लागत वाली घोघा-दहेज रो-रो फेरी सर्विस के पहले फेज का इनॉगरेशन, दिव्यांग बच्चों के साथ एक घंटे से ज्यादा के समुद्री सफर और वडोदरा में 14 किलोमीटर लंबे रोड शो समेत कई प्रोग्राम में शिरकत करेंगे। वडोदरा में मोदी 1140 करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट्स का इनॉगरेशन करेंगे। वे यहां लोगों को एड्रेस भी करेंगे।
रो-रो फेरी सर्विस साउथ गुजरात और सौराष्ट्र के बीच की 310 किलोमीटर के सड़क से होने वाले सफर को समुद्री रास्ते से घटाकर करीब 30 किलोमीटर कर देगी। पहले फेज में इसके जरिए लोग घोघा और दहेज के बीच शिप से आना- जाना कर सकेंगे, जबकि दूसरे फेज में गाड़ी समेत आ-जा सकेंगे। इस प्रोजेक्ट की नींव मोदी ने ही बतौर सीएम जनवरी 2012 में रखी थी।
 615 करोड़ रुपए आई लागत
– साउथ गुजरात के सूरत और सौराष्ट्र के भावनगर के बीच शुरू हो रही घोघा-दहेज फेरी सर्विस से लोगों को अब सफर में आसानी होगी।
– पहले बस से रात भर का सफर होता था, अब यह 310 किलोमीटर से कम होकर 30 किलोमीटर हो गया है।
 कांग्रेस ने मांगा साथ, हार्दिक बोले- मैं चुनाव नहीं लड़ूंगा
– कांग्रेस के चुनाव में सपोर्ट देने के ऑफर पर हार्दिक पटेल ने कहा कि उन्हें चुनाव नहीं लड़ना है। वैसे भी वे कॉन्स्टीट्यूशनली चुनाव लड़ने के काबिल नहीं हैं। उन्होंने कहा कि अहंकारी बीजेपी के खिलाफ एकजुट होना है।
– वहीं दलित नेता जिग्नेश मेवानी ने कहा कि वह बीजेपी को गुजरात विधानसभा और लोकसभा चुनावों में हराने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। वे चुनाव लड़ेंगे या नहीं या कांग्रेस में शामिल होंगे या नहीं, इसका फैसला दलित नेताओं से बातचीत के बाद करेंगे।
– बता दें कि हार्दिक अभी 24 साल के हैं। चुनाव लड़ने के लिए 25 साल का होना जरूरी है।
 बीजेपी का भी टिकट मंथन
– गुजरात बीजेपी की बैठक अमित शाह की मौजूदगी में शनिवार को हुई। इसमें सभी 182 सीटों के संभावित उम्मीदवारों पर चर्चा की जा रही है।
 कांग्रेस का आरोप- बीजेपी डरी हुई पार्टी
– कांग्रेस ने फिर आरोप लगाया कि मोदी सरकार इलेक्शन कमीशन (ईसी) पर अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर गुजरात में चुनाव के एलान में देरी करा रही है।
– गुजरात के पार्टी प्रेसिडेंट भरतसिंह सोलंकी ने कहा कि इसी प्रभाव के चलते हिमाचल में चुनाव की तारीखों का एलान कर दिया गया, लेकिन गुजरात में ऐसा नहीं किया गया। माहौल को देखकर बीजेपी चुनाव से डर गई है। बीजेपी चाहती है कि चुनाव का एलान मोदी के दौरे के बाद ऐन वक्त पर किया जाए, ताकि कांग्रेस को कोई फायदा न मिले, लेकिन जनता जानती है कि बीजेपी डरी हुई पार्टी है।
– बता दें कि पी. चिदंबरम ने भी तंज कसते हुए कहा था कि ईसी ने गुजरात में चुनाव के एलान का जिम्मा मोदी को सौंपा है।
 पिछली बार 16 अक्टूबर को गुजरात पहुंचे थे मोदी
– बीते करीब सवा महीने (38 दिन) में मोदी का यह पांचवां गुजरात दौरा है।
– इससे पहले वे 16 अक्टूबर को गुजरात गौरव यात्रा के समापन के मौके पर राज्य के दौरे पर पहुंचे थे।
– 7 अक्टूबर को वे दो दिन के गुजरात दौरे पर थे। तब उन्होंने राजकोट, वडनगर और गांधीनगर में डेवलपमेंट के कई प्रोजेक्ट्स की नींव रखी थी। कुछ प्रोजेक्ट्स का इनॉगरेशन भी किया था। पीएम 8 अक्टूबर को अपने गांव वडनगर भी गए थे और आसपास के इलाके में रोड शो भी किया था।
– इसके बाद, 17 सितंबर को वे अपने बर्थडे पर भी राज्य में थे।
– इससे पहले 14 सितंबर को उन्होंने जापान के पीएम शिंजो आबे के साथ अहमदाबाद में बुलेट ट्रेन की नींव रखी थी।
Share.

About Author

Leave A Reply