About us

84% लोग यह मानते हैं कि मोदी सरकार काले धन को रोकने को लेकर गंभीर है

0
एक सर्वे के मुताबिक, देश के 82% लोग सरकार के नोटबंदी के फैसले के सपोर्ट में हैं। जबकि 84% लोग यह मानते हैं कि मोदी सरकार काले धन को रोकने को लेकर गंभीर है। हालांकि, 52% लोग एटीएम से अधिकतम 2000 रुपए निकाले जाने (अब बढ़ाकर 2500 रुपए कर दिया गया है) के फैसले से सहमत नहीं हैं।
– न्यूज एजेंसी के मुताबिक, यह सर्वे Inshorts ने ग्लोबल मार्केट रिसर्च कंपनी IPSOS की मदद से किया है। Inshorts दिल्ली की कंपनी है जो कंटेंट डिस्कवरी का काम करती है।
– ‘पल्स ऑफ नेशन’ (देश की नब्ज) नाम से यह सर्वे 8 और 9 नवंबर को किया गया।
– बता दें कि 8 नवंबर को नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 के नोट बंद करने का एलान किया था। उन्होंने अनडिक्लेयर्ड कैश को मेनस्ट्रीम इकोनॉमी में लाने के लिए इस कड़े कदम को जरूरी बताया था।
यंग और अर्बन इंडिया ने पसंद की स्ट्रैटजी
– IPSOS इंडिया के सीईओ ने कहा- “सर्वे के नतीजों से पता चलता है कि ज्यादातर लोग नोटबंदी के फैसले के सपोर्ट में हैं।”
– “यंग और अर्बन इंडिया की नजर में काले धन और टैक्स चोरी के खिलाफ सरकार की ये स्ट्रैटजी निश्चित तौर पर बेहतर है।”
5 लाख लोगों पर किया गया सर्वे
– इस सर्वे में देश के करीब 5 लाख लोगों का रिस्पॉन्स लिया गया। इसमें 2.69 लाख ऐप यूजर्स भी शामिल हैं।
– सर्वे में शामिल 80% से ज्यादा लोगों की उम्र 35 साल से कम है।
– ये भारत के टॉप 10 मेट्रो सिटीज- नई दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु, चेन्नई, कोलकाता, पुणे, हैदराबाद, अहमदाबाद, चंडीगढ़ और लखनऊ में रहते हैं।
बैंकों-एटीएम के सामने लंबी कतारें
– 500-1000 के पुराने नोट बंद होने के बाद इनकी जगह 500 और 2000 के नए नोट मार्केट में आने हैं, लेकिन अभी तक ये नोट पूरी तरह मार्केट में अवेलेबल नहीं हैं।
– अचानक सामने आए इस फैसले से लोगों के पास कैश की दिक्कत हो गई है, लिहाजा, पिछले कुछ दिनों से एटीएम और बैंकों पर लोगों की लंबी कतारें देखी जा रही हैं।
मोदी ने क्या कहा है?
– पिछले हफ्ते कई मीटिंगों के बाद नरेंद्र मोदी ने लोगों से यह अपील की थी कि बस 50 दिन दें, उसके बाद यह दिक्कत दूर हो जाएगी।
– मोदी ने सोमवार को यूपी के गाजीपुर में कहा- “मुझे मालूम है कि आप लोगों को दिक्कत हो रही है। मैं इसे समझ सकता हूं।”
– “आपको हो रही परेशानी से मैं दुखी हूं और इसीलिए मैं इस स्थिति को कंट्रोल करने में लगा हुआ हूं।”
संसद सत्र कल से, अपोजिशन हमले को तैयार
– मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अपोजिशन पार्टियों ने इस मामले में बुधवार से शुरू हो रहे संसद सत्र में सरकार को घेरने की योजना बनाई है।
– उधर, मोदी ने भी विरोधी दलों से निपटने के लिए स्ट्रैटजी तैयार करने के मकसद से बीजेपी सांसदों के साथ से मीटिंग की है।
– मोदी ने अपने सांसदों से कहा है कि देश इस फैसले का सपोर्ट कर रहा है, इसलिए सरकार को बचाव करने की जरूरत नहीं है।
Share.

About Author

Leave A Reply