About us

पंजाब में 6 जून को ऑपरेशन ब्लू स्टार की 32वीं बरसी

0
पंजाब में 6 जून को ऑपरेशन ब्लू स्टार की 32वीं बरसी पर किसी भी तरह की गड़बड़ी रोकने के लिए गोल्डन टेम्पल व आसपास के इलाकों में कड़ा पुलिस बंदोबस्त किया गया है। बता दें कि पिछले दो साल से लगातार गोल्डन टेम्पल में एसजीपीसी टास्क फोर्स और शिरोमणि अकाली दल समर्थकों के बीच झड़पें होती आ रही हैं। 2014 में तो तलवारें तक चल गई थीं।
– उस दिन श्री अकाल तख्त साहिब पर रखे गए अखंड पाठ के भोग के तुरंत बाद श्री गुरु ग्रंथ साहिब की हजूरी में ही एसजीपीसी टास्क फोर्स और शिरोमणि अकाली दल समर्थकों के बीच झड़प हुई थी। घायलों में एक 12 साल का लड़का भी शामिल था।
– दरअसरल, जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह के अनुसार, जरनैल सिंह भिंडरावाले के बेटे ईशर सिंह, शहीद अमरीक सिंह की पत्नी बीबी हरमीत कौर और कुछ अन्य परिवारों को सम्मानित किया जा रहा था।
– इसी दौरान श्री अकाल तख्त साहिब के ठीक नीचे खड़े मान समर्थक खालिस्तान के समर्थन में नारे लगाने लगे।
– शिरोमणि अकाली दल के प्रेसिडेंट सिमरनजीत सिंह मान ने बोलना शुरू किया, लेकिन उनकी आवाज उनके समर्थकों तक नहीं पहुंच पा रही थी।
पगड़ी गिरने पर किया हमला
– इस पर समर्थकों ने माइक लेना चाहा, लेकिन एसजीपीसी के सदस्यों ने उन्हें माइक देने से मना कर दिया।
– इस पर कुछ समर्थक तलवार समेत अकाल तख्त साहिब में दाखिल होने के लिए दौड़े। अकाल तख्त साहिब में मौजूद एसजीपीसी टास्क फोर्स ने उन्हें रोकने की कोशिश की।
– इसी दौरान दोनों गुटों में धक्का-मुक्की के बीच एक मान समर्थक की पगड़ी उछल गई। इस पर मान समर्थकों ने तलवारों से टास्क फोर्स पर हमला कर दिया।
– उसके बाद दोनों गुटों में जमकर तलवारें चलीं और वे लड़ते-लड़ते अकाल तख्त साहिब के बाहर आ गए।
– तलवारबाजी की वजह से तब वहां मौजूद लोग काफी डर गए थे, हालांकि संघर्ष में किसी की जान नहीं गई थी।
Share.

About Author

Leave A Reply