About us

कचरे के ढेर में पड़ी एक नवजात बच्ची को तीन युवकों ने बचा लिया

0
यहां की एक पॉश कॉलोनी में कचरे के ढेर में पड़ी एक नवजात बच्ची को तीन युवकों ने बचा लिया। जिस समय ढेर से बच्ची को उठाया गया, उस वक्त उसके शरीर पर सैकड़ों चींटियां रेंग रही थीं। ये लोग नवजात को तुरंत अस्पताल ले गए, जहां उसका इलाज किया जा रहा है।
बच्ची को अस्पताल पहुंचाने वाले युवकों में से एक 30 वर्षीय धीरज राठौर चाय की दुकान लगाते हैं। धीरज ने  बताया- ” शनिवार की शाम करीब साढ़े 5 बजे मैं अपने दोस्त चंदन और सुरेश के साथ मंत्री गोपाल भार्गव के बंगले के पास से गुजर रहा था। तभी वहां कचरे के कंटेनर के नजदीक बच्चे के रोने की आवाज आई। थोड़ा पास जाकर देखा तो पॉलीथिन में एक सिर हिलता दिखा। वहां एक बच्ची पड़ी हुई थी। उसके शरीर पर चीटियां चिपकी हुई थीं। सुरेश ने अपनी टी-शर्ट निकाली। चींटियों को साफ किया और उसमें बच्ची को लपेट लिया। उसके बाद हम उसे जेपी अस्पताल ले आए।”
 बॉडी पर आई हैं मल्टीपल इंजुरी

बच्ची की मॉनिटरिंग कर रहे डॉ. सुनील आर्य ने बताया कि उसे फेंके जाने के कारण उसके शरीर में मल्टीपल इंजुरी आई हैं। चींटियों ने भी उसे कई जगह काटा है। इलाज किया जा रहा है। वह मुश्किल से 3 से 4 घंटे पहले जन्मी होगी। इस बीच, पुलिस बच्ची के माता-पिता को तलाशने की कोशिश कर रही है।
बचाने वाले ने जताई गोद लेने की इच्छा…
बच्ची को बचाने वाले युवकों में से एक चंदन ने उसे अपने पास रखने की इच्छा जाहिर की है। उनका पहले से ही एक बेटी और बेटा है।
Share.

About Author

Leave A Reply