About us

अब तक तुम्हें मैं सुपरहीरो मानती थी लेकिन तुम तो इंसान भी नहीं….

0
सलमान खान ने अपने शारीरिक थकान की तुलना रेप विक्टिम के दर्द से करते हुए एक बयान दे दिया। देशभर में इस बयान की आलोचना के बीच राजस्थान के जयपुर की एक रेप विक्टिम ने भास्कर से सीधी बात की। कभी सलमान को अपना सुपरहीरो मानने वाली इस महिला ने उनके विवादित बयान के बाद कहा – ‘तुम (सलमान) तो इंसान भी नहीं…’।
– 31 साल की रेप विक्टिम रश्मि कपूर (बदला हुआ नाम ) ने कहा, “सलमान, क्या आपने उस दर्द को जाना है, जिसमें शारीरिक से ज्यादा भावनात्मक जख्म मिलते हैं ? ऐसी बेइज्जती, जिसमें आपका कोई कसूर नहीं होता, लेकिन उसका दर्द आपको जिंदगीभर चैन की एक सांस नसीब नहीं होने देता।”
– रश्मि ने कहा, गुनाह कोई और करता है और समाज हमें गुनहगार बना देता है। आप (सलमान) जिस शारीरिक पीड़ा की बात कर रहे हैं, वो आपको शौक और प्रोफेशन की वजह से है।
– आपका दर्द तो एक पेन किलर भी दूर कर सकता है, लेकिन रेप विक्टिम जिस दर्द से गुजरती है, उसे न तो दवा ठीक कर सकती है, न दुआ।
– सलमान, क्या तुमने इस थकान से कभी खुद को मुर्दा महसूस किया है?
– मैं रोज खुद को इस जिंदा समाज में मुर्दा महसूस करती हूं। अब तक तुम्हें मैं सुपरहीरो मानती थी लेकिन तुम तो इंसान भी नहीं….।
– बता दें कि रश्मि ने रेप के बावजूद हार नहीं मानी। आज वे कॉरपोरेट फंडिंग में अहम पोस्ट पर हैं।
क्या था सलमान का बयान ?
– सलमान ने फिल्म सुल्तान की शूटिंग के दौरान हुई मेहनत और थकान की तुलना रेप पीड़ित महिला से कर दी।
– उनकी जो साउंड क्लिप मीडिया में आई, उसमें सलमान कह रहे हैं- ‘शूटिंग के दौरान छह घंटे तक जो उठापटक-उठापटक-उठापटक होता था वाे अविश्वसनीय है। मैं 120 किलो के व्यक्ति को उठाता हूं और उसे नीचे पटकता हूं… और इसे लगातार 10 बार करता हूं। ये सबसे मुश्किल था। शूटिंग के बाद जब मैं रिंग से निकलने को होता तो लगता कि कोई रेप पीड़ित महिला चल रही है। कदम भी नहीं उठा पाता था।’ सलमान ने वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में ये बातें कही हैं।
Share.

About Author

Leave A Reply