About us

एक्सिस बैंक की चांदनी चौक ब्रांच में नोटबंदी के बाद 450 करोड़ों रुपए जमा करने का खुलासा हुआ

0
एक्सिस बैंक की चांदनी चौक ब्रांच में नोटबंदी के बाद 450 करोड़ों रुपए जमा करने का खुलासा हुआ है। खबर मिलने के बाद शुक्रवार को इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की टीम ने रेड मारी। इस दौरान जांच में 44 फर्जी अकाउंट्स भी सामने आए। इनमें 100 करोड़ रुपए डिपॉजिट किए गए। अब इनकम टैक्स डिपार्टमेंट गड़बड़ी के लिए जिम्मेदार बैंक अफसरों से पूछताछ कर रहा है।
5 दिसंबर को इन्फोर्समेंट डायरेक्‍टोरेट (प्रवर्तन निदेशालय) ने एक्सिस बैंक के दो मैनेजरों को 40 करोड़ की ब्लैकमनी को नए नोटों में बदलने के आरोप में अरेस्ट किया था।
– आरोपी मैनेजर शोभित और विनीत सिन्हा दिल्ली की कश्मीरी गेट ब्रांच में पोस्टेड थे। दोनों पर मोटा कमीशन और गोल्ड ब्रिक्स (सोने की सिल्ली) लेने के आरोप हैं।
– ईडी की रेड में लखनऊ से ब्रिक्स बरामद की गईं। ईडी ने प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉंड्रिंग एक्ट यानी पीएमएलए के तहत केस दर्ज किया है। बैंक ने दोनों को सस्पेंड कर दिया है।
– बता दें कि मोदी सरकार ने ब्लैकमनी, करप्शन और टेरर फंडिंग रोकने के लिए 8 नवंबर को 500-1000 के पुराने नोट बंद करने का फैसला लिया था।
# ED के स्कैनर पर हैं बड़े ट्रांजैक्शन
– बुधवार को ईडी ने हवाला कारोबार और मनी लॉन्ड्रिंग के शक में देशभर के 10 बैंकों की 50 ब्रांचों पर रेड की। इसमें एक करोड़ की रकम (80 लाख पुराने और 20 लाख नए नोट) जब्त किए थे।
– ईडी को खबर मिली थी कि कुछ ब्रांचों में नोटबंदी के बाद पुराने नोटों में बड़ी रकम जमा हुई। ऐसे 30 बड़े मामलों की जांच ईडी के पास है। देशभर के ऐसे बैंक अकाउंट्स की जांच चल रही है, जिनमें एकमुश्त रकम जमा हुई।
– बताया गया है कि कुछ बैंकों में कर्मचारियों से मिली-भगत कर टैक्स चोरों ने एकमुश्त भारी रकम खातों में डिपॉजिट की है।
# 400 मामलों की चल रही थी जांच
– 8 नवंबर के बाद IT डिपार्टमेंट ने 130 करोड़ रुपए की नकदी और ज्वैलरी जब्त की। जबकि टैक्सपेयर्स ने 2000 करोड़ रुपए की बेहिसाबी इनकम का खुलासा किया।
– सीबीडीटी (सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस) ने कहा था, “डिपार्टमेंट 400 से ज्यादा मामलों की जांच में जुटा था। करप्शन का पता लगाने के लिए डिपार्टमेंट, ईडी और सीबीआई के साथ मिलकर ठोस कार्रवाई कर रहा है। अगर जांच में अपराध का पता चला तो तत्काल कड़ी कार्रवाई होगी।”
# 27 नवंबर तक बैंकों में जमा हुई 8.45 लाख करोड़ रुपए की करंसी
– नोटबंदी के बाद पुराने 500-1000 के नोट बैंक में जमा करने के लिए दिसंबर के आखिर तक का वक्त दिया गया है।
– ऐसा अनुमान था कि देश में 14 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा के हाई वैल्यू करंसी नोट चलन में थे।
– आरबीआई के आंकड़ों के मुताबिक, 27 नवंबर तक बैंकों में 8.45 लाख करोड़ रुपए की ऐसी करंसी डिपॉजिट की गई।
Share.

About Author

Leave A Reply