About us

कुर्सी पर बोझ नहीं रहूंगा – मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

0
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कहा कि मैं जनकल्याणकारी काम करने के लिए मुख्यमंत्री बना हूं। इसलिए कुर्सी पर बोझ नहीं रहूंगा। वे अपने कार्यकाल के 11 वर्ष पूरे होने पर यहां BJP दफ्तर में महिला मोर्चा द्वारा आयोजित अभिनंदन समारोह में बोल रहे थे। इस मौके पर मोर्चा ने कन्या पूजन कार्यक्रम भी आयोजित किया।
यह भी बोले शिवराज…
-रिश्तों पर: बहन-भाई का रिश्ता सबसे पवित्र। हमारी संस्कृति बेटी को पूजती है। दूसरी पार्टियों में महिलाओं का सम्मान नहीं होता।
-लड़कियों की शादी पर: मैंने और पत्नी साधना ने तय किया था कि बेटियों की शादी करवाएंगे। सभ्य सामाज में बेटी कम पैदा होती हैं। कहीं बेटी को मारने का पाप तो नहीं हो रहा, महिला मोर्चा इस पर ध्यान दें।
-चिंता जताई:महिला मोर्चा बेटियों के जन्म के आंकड़ों का अध्ययन करें। गरीबों के यहां ज्यादा बेटियां जन्म लेती हैं, अमीरों के घर में नहीं। कहीं शहरों में कोख में ही तो नहीं मार दी जाती बेटियां?
-छेड़छाड़ के मुद्दे पर:बेटियों के हाथ में डंडे थमा दूंगा, गुंडों की अकल ठिकाने आ जाएगी।
-योजना पर: नगर उदय अभियान 25 दिसम्बर से शुरू होगा। आदिवासी महिलाओं को इससे जोड़ें, ताकि उनको योजनाओं का लाभ मिले।
-सम्मेलन:स्व सहायता समूहों का राज्यस्तरीय महिला सशक्तिकरण सम्मेलन होगा। इससे
लोअर और लोअर मिडिल क्लास की करीब 2 लाख महिलाओं को कारोबार से जोड़ेंगे।
-महिला हेल्थ: महिलाओं का गांव-गांव में मेडिकल चेकअप होगा। बीमार महिलाओं का इलाज कराएगी सरकार। कैम्प पूरे प्रदेश में लगाए जाएंगे। दिल्ली के डॉक्टरों को कैम्प में लाने के लिए 17 दिसम्बर को मैं दिल्ली जा रहा हूं।
-अपील:अगले रक्षा बंधन पर एक राखी मुझे और एक राखी पेड़ को बांधे। ऐसा अभियान चलाए महिला मोर्चा।
Share.

About Author

Leave A Reply