About us

चीन की प्रमुख कंपनियों ने मध्यप्रदेश में निवेश करने में दिखाई रूचि

0

मध्यप्रदेश में निवेश को लेकर चीन के उद्योगपतियों और निवेशक कंपनियों के उत्साह को देखते हुए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान 24 जून को औद्योगिक शहर शेनज़ेन में उद्योगपतियों से मुलाकात करेंगे और प्रदेश में निवेश की संभावनाओं पर चर्चा करेंगे। श्री चौहान 25 जून की रात्रि में नई दिल्ली लौटेंगे और 26 जून को सुबह शासकीय वायुयान से भोपाल आयेंगे। उल्लेखनीय है कि पूर्व निर्धारित यात्रा पाँच दिन की थी।

श्री चौहान 23 जून गुरुवार को ग्वांगजो में होने वाले बिजनेस सेमीनार में उद्योगपतियों से चर्चा करेंगे। श्री चौहान एवरग्रैंड ग्रुप कम्पनी  से मुलाकात  करेंगे। रियल एस्टेट, कृषि, पशुपालन, स्वास्थ्य, पर्यटन, खेल उद्योग जैसे क्षेत्रों में निवेश संभावनाओं पर चर्चा होगी। ग्वांग्जू ऑटोमोबाइल कंपनी, डाली फ़ूड कंपनी तथा ओप्पो कपंनी के प्रतिनिधियों से भी बातचीत होगी। इन कपंनियों ने मध्यप्रदेश में आटोमोबाईल,फ़ूड इंडस्ट्री के साथ-साथ इलेक्ट्रॉनिक्स और  प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में निवेश करने में रूचि दिखाई है।

ग्वांग्जू ऑटोमोबाइल चीन की प्रमुख कंपनी है और ऑटोमोबाइल  निर्माण, विक्रय तथा सेवाएं प्रदान करती है। इसी प्रकार डाली फ़ूड कंपनी ने भी निवेश करने में रूचि दिखाई है। यह कम्पनी चीन आधारित भोजन तथा पेय पदार्थों की कंपनी है और खाद्य तथा पेय उत्पादों के व्यवसाय से जुड़ी है। श्री चौहान की ग्वांग्जू एवरग्रैंड ग्रुप के प्रतिनिधियों से भी मुलाक़ात होगी। यह ग्रुप बोतल बंद पानी, अनाज तथा दुग्ध से जुड़े उत्पाद तैयार करता है।

वैश्विक इलेक्ट्रॉनिक्स और प्रौद्योगिकी सेवा प्रदाता कम्पनी ओप्पो भारत में पहले से व्यवसाय कर  रही है। मध्यप्रदेश में निवेश की संभावनाओं को देखते हुए इस कम्पनी ने भी निवेश में रूचि ज़ाहिर की है। उल्लेखनीय है कि सेनी ग्रुप ने एक बिलियन डॉलर निवेश को लेकर करार किया है। 

Share.

About Author

Leave A Reply