About us

ज्योतिरादित्य सिंधिया को चंबल के एक कस्बे में काले झंडे और विरोध झेलना पड़ा

0
कांग्रेस सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को चंबल के एक कस्बे में काले झंडे और विरोध झेलना पड़ा। प्रदर्शनकारियों ने अंबाह में जाते वक्त उनके वाहन को घेर लिया। इसी दौरान सिंधिया की सुरक्षा के लिए तेजी से आगे बढ़ रहा पायलट वाहन पलट गया। इस कारण उसमें सवार SDOP, TI, समेत 3 पुलिस कर्मी जख्मी हो गए।

– ज्योतिरादित्य सिंधिया का सोमवार को मुरैना के अंबाह में दौरा तय था, लेकिन पार्टी की ब्लॉक इकाई ने प्रस्तावित दौरे की दौरे की व्यवस्थाओं में स्थानीय कार्यकर्ताओं की उपेक्षा और उन्हें विश्वास में नहीं लिए जाने पर असंतोष जताया था।
– सोमवार को ठीक दौरे से पहले पार्टी की ब्लॉक इकाई के अध्यक्ष मधुराज सिंह तोमर ने कार्यकर्ताओं की उपेक्षा के विरोध में अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया।
– इसके बाद भी ज्योतिरादित्य सिंधिया अंबाह रवाना हुए, तो मुरैना से आगे निकलते ही विरोध शुरू हो गया।
भीड़ ने घेरा सिंधिया का वाहन
– अंबाह पहुंचने से पहले ही बड़फरा गांव के पास सिंधिया के काफिले को विरोध जताती भीड़ ने घेर लिया।
– भीड़ ने नारेबाजी करते हुए सिंधिया को काले झंडे दिखाए, कुछ प्रदर्शनकारी तो सिंधिया के वाहन पर चढ़ गए।
– पुलिस किसी तरह सिंधिया को बचा कर अंबाह लेआई. वहां सभा के बाद सिंधिया वापस लौटे इस दौरान पायलटिंग कार पलट गई।
घायल हुए पुलिसकर्मी
– सिंधिया की सुरक्षा के मद्देनजर वापसी में सभी वाहन तेजी से जा रहे थे, तभी पायलटिंग कार पलट गई।
– नतीजतन उसमें सवार SDOP किशोर सिंह भदौरिया, TI अनेजा सहित सहित 3 पुलिस कर्मी घायल हो गए।
– वाहन पलटने के बाद सिंधिया ने काफिला रोका और वाहन मंगवाकर घायल पुलिस अधिकारी व कर्मचारियों को जिला अस्पताल रवाना किया।
– जिला अस्पताल से प्राथमिक उपचार के बाद सभी को ग्वालियर रैफर किया गया, अंबाह से वापस लौटे और पुलिस कर्मियों का हालचाल जानने अस्पताल पहुंचे।
Share.

About Author

Leave A Reply