About us

धीरे-धीरे ठंड अपना असर दिखाने लगी, राज्य से मानसून लगभग विदा

0
राज्य से मानसून लगभग विदा ले चुका है। मंगलवार सुबह से तेज धूप खिली हुई है, जो चुभन पैदा कर रही है। हालांकि, रात में हल्की ठंड का अहसास होने लगा है। मौसम विभाग के मुताबिक, हवाओं का रुख उत्तर-पश्चिमी हो चला है, जिससे न्यूनतम तापमान में गिरावट आ रही है। वहीं, धीरे-धीरे ठंड अपना असर दिखाने लगी है। आगामी 24 घंटों में मौसम के शुष्क रहने की संभावना है।
 ये रहेगा ट्रेंड
शहर में इस बार भले ही बारिश सामान्य से 30 सेमी कम हुई हो, लेकिन तेज ठंड कम से कम 48 दिन तक पड़ सकती है। मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि मिल रहे ट्रेंड के मुताबिक नवंबर से फरवरी तक यदि मौसम का पैटर्न सामान्य भी रहा तो इतने दिन तो ठंड पड़ेगी। अभी से हवा का रुख उत्तर, उत्तर पश्चिमी होने लगा है। इसी वजह से रात का तापमान भी गिरने लगा है। अक्टूबर शुरू होने के पहले ही शहर में रात का तापमान सामान्य या उससे कम हो गया था।
 -राज्य के तापमान में उतार चढ़ाव जारी है। बीते 24 घंटों में श्योपुर का अधिकतम तापमान 39 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम 17 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मंगलवार को भोपाल का न्यूनतम तापमान 20.6 डिग्री, इंदौर का 20.7 डिग्री ,ग्वालियर का 19 डिग्री और जबलपुर का न्यूनतम तापमान 21.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
-वहीं, सोमवार को भोपाल का अधिकतम तापमान 35.3 डिग्री सेल्सियस, इंदौर का 35.4 डिग्री, ग्वालियर का 38.2 डिग्री और जबलपुर को 34.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।
 चार महीने में 16 सिस्टम बनेंगे
– मौसम विशेषज्ञ डीपी दुबे का कहना है कि एक महीने में सामान्य तौर पर चार वेस्टर्न डिस्टरबेंस होना चाहिए। सब कुछ सामान्य रहा तो एेसे एक सिस्टम का असर कम से कम तीन दिन तक रहता है।
– नवंबर से फरवरी तक चार महीने में ऐसे 16 सिस्टम बनेंगे। इस लिहाज से 48 दिन तक तेज ठंड के आसार बनेंगे। इसके लिए जरूरी यह भी है कि ऐसे दो सिस्टम के बीच कम से कम पांच- छह दिन का गेप होना चाहिए।
Share.