About us

भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव

0
जम्मू-कश्मीर के उड़ी में सैन्य शिविर पर हुए आतंकवादी हमले में 19 सैनिकों के शहीद होने के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव चरम पर पहुंच गया। हालात युद्ध जैसे बन गए, इसी भारत ने सर्जिकल हमला कर पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में 7 आतंकवादी शिविरों को तबाह कर 50 से ज्यादा आतंकियों को ढेर कर दिया।  आइए, जानते हैं इस घटनाक्रम से जुड़ी संपूर्ण जानकारी….

4  अक्टूबर 2016

* सर्जिकल हमले के बाद नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी की खबरें, भारत का पाक को करारा जवाब, दो चौकियां उड़ाई जिसमें 12 पाक सैनिकों की मौत की खबर
 ‍* निरुपम के बयान के बाद कांग्रेस का स्पष्टीकरण, सेना की कुर्बानी को राजनीति का रंग नहीं दिया जाना चाहिए
  * संजय निरुपम, केजरीवाल क्यों कर रहे हैं अपनी ही सेना पर संदेह?
 * भारत-पाक तनाव के बीच एक सुखद खबर भी आई जब सुषमा स्वराज ने पाकिस्तानी लड़कियों की सुरक्षित वापसी कराई
 * केजरीवाल के बाद कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने भी सर्जिकल हमले पर उठाया सवाल
 *  भाजपा का केजरीवाल पर पलटवार, केजरीवाल ने किया सेना का अपमान
 * उधर पाकिस्तान में दाऊद के समधी और पूर्व क्रिकेटर जावेद मियांदाद ने नरेन्द्र मोदी के लिए अपशब्द कहे
 * केजरीवाल के वीडियो को पाकिस्तान में सुर्खियां मिलने के बाद भारत में ही बवाल उठ खड़ा हुआ
 * 3 सितंबर को बारामुला हमले के बाद बीएसएफ ने कहा कि आतंकवादियों की उड़ी जैसा हमला करने की योजना थी
* 3 अक्टूबर को बारामुला में आतंकवादी हमला हुआ, जिसमें सुरक्षा बलों ने दो आतंकवादियों को मार गिराया। इस हमले में एक सुरक्षाकर्मी शहीद हो गया।
 * भारत की सर्जिकल स्ट्राइक को नकारने वाले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने सोमवार (3 अक्टूबर) को सभी संसदीय नेताओं के साथ विशेष बैठक की अध्यक्षता की। नवाज शरीफ ने ये भी कहा कि पूरा देश भारतीय आक्रमण के खिलाफ है।
 * कार्रवाई के बाद सेना ने सीना ठोंककर कहा कि हमने पीओके में सर्जिकल हमले को अंजाम दिया है। पाकिस्तान सकते में आया और खिसियाहट में भारत को परमाणु हमले की धमकी दी।
 * 29 सितंबर को यानी ठीक 10 दिन बाद भारतीय सेना ने बदले की कार्रवाई करते हुए पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में सर्जिकल हमले को अंजाम दिया और 7 आतंकवादी शिविरों को ध्वस्त कर 50 से ज्यादा आतंकवादियों को मार गिराया।
 * उड़ी हमले के बाद पूरे भारत में विरोध के स्वर तेज हुए। कोझिकोड में मोदी ने कहा कि हम उड़ी हमले को भूलेंगे नहीं, जबकि सेना ने कहा कि सही समय और सही स्थान पर इस हमले का जवाब दिया जाएगा।
 * उड़ी हमले के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ा। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कश्मीर मुद्दे को अंतरराष्ट्रीय मंच पर उठाया, लेकिन उन्हें मुंह की खानी पड़ी। जवाब में भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान को करारा जवाब दिया। उन्हें खरे शब्दों में कहा कि भारत ने शर्तों के आधार पर नहीं, मित्रता के आधार पर पाक के साथ सभी विवाद सुलझाने की पहल की थी, लेकिन जवाब में हमें पठानकोट और उड़ी के आतंकवादी हमले मिले। पूरी दुनिया ने भारत के रुख का समर्थन किया।
 * 18 सितंबर को पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ कर भारतीय सीमा में आतंकवादियों के हमले में 17 सैनिकों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई थी, जबकि दो सैनिकों की इलाज के दौरान मौत हो गई। इस तरह इस घटना में कुल 19 सैनिकों की मौत हुई।
Share.

About Author

Leave A Reply