About us

शनिवार को अलसुबह होशंगाबाद के प्रसिद्ध सेठानी घाट से शुरू हुई

0
कांवड़ यात्रा शनिवार को अलसुबह होशंगाबाद के प्रसिद्ध सेठानी घाट से शुरू हुई। यहां से कांवड़िए अपनी कांवड़ में नर्मदा जल भरकर भोपाल की ओर रवाना हो गए हैं। कंधों पर आस्था की कांवड़ उठाए कांवड़िए होशंगाबाद से 111 किमी पैदल चलकर एक अगस्त को भोपाल में लालघाटी स्थित गुफा मंदिर पहुंचेंगे। यहां नर्मदा के जल से ही भगवान शिव का अभिषेक किया जाएगा।
संस्था कर्मश्री के अध्यक्ष और विधायक रामेश्वर शर्मा ने बताया कि गुफा मंदिर में श्रावण सोमवार 1 अगस्त को कांवड़ जल से भगवान आशुतोष का जलाभिषेक किया जाएगा। कांवड़ यात्रा के माध्यम से धर्म, समाज, प्रकृति और राष्ट्र के प्रति जनजागरण के संकल्प करवाते हैं। इस बार भी परंपरानुसार कांवड़ यात्रा में शामिल कांवडि़ए स्वच्छता का संदेश देते हुए चलेंगे, साथ ही बेटी, गोवंश, जल बचाओ, वृक्ष लगाओ, धर्म चेतना, राष्ट्र चेतना और नशामुक्त भारत का संदेश लेकर यात्रा की जाएगी।

पौधरोपण भी करेंगे कांवड़िए
विधायक शर्मा ने बताया कि रास्ते में कांवड़ यात्री पर्यावरण संरक्षण का संदेश देने कई उचित स्थानों पर पौधरोपण भी करेंगे। साथ ही वे लोगों को बेटी बचाने व गौ वंश की सुरक्षा का संदेश देते हुए आगे बढ़ेंगे।

नर्मदा मैया को समर्पित की चुनरी
संस्था द्वारा 29 जुलाई को हिरदाराम नगर में चुनरी यात्रा निकाली गई। दोपहर 12 बजे सीहोर नाका से शुरू होकर यह यात्रा संत हिरदाराम जी की कुटिया पहुंची। यहां से सभी यात्री ट्रेन से होशंगाबाद पहुंचे। शनिवार को सभी भक्त मिलकर मां नर्मदा को चुनरी चढ़ाई।

9 साल से जारी है कांवड़ यात्रा
कांवड़ यात्रा 1 अगस्त को गेहूंखेड़ा, नयापुरा, ललिता नगर, सर्वधर्म,बीमाकुंज, बिट्टन मार्केट व लालघाटी होते हुए गुफा मंदिर पहुंचेगी। गौरतलब है कि संस्था कर्मश्री की कांवड़ यात्रा का ये लगातार 9वां साल है।

Share.

About Author

Leave A Reply