About us

सीएम शिवराज सिंह चौहान रविवार को बाढ़ का जायजा लेने पन्ना पहुंचे

0
बारिश के कारण देश के कई हिस्सों में बाढ़ के हालात हैं। बिहार, मध्य प्रदेश और उत्तराखंड में सबसे ज्यादा तबाही मची है। एमपी के अलग-अलग जिलों में 24 घंटों में 20 लोगों की मौत हो गई है। इस बीच, सीएम शिवराज सिंह चौहान रविवार को बाढ़ का जायजा लेने पन्ना पहुंचे। पानी इतना ज्यादा था कि पुलिसवालों ने उन्हें गोद में उठाकर प्रभावित इलाका पार कराया।
#1. मध्य प्रदेश: विंध्य और बघेलखंड के बाद बारिश ने किया मालवा का रुख
– मध्य प्रदेश में महाकौशल, विंध्य और बघेलखंड में हाहाकार मचाने के बाद अब बारिश ने मालवा का रुख किया है। रविवार को मंदसौर से नीमच तक झमाझम बारिश हुई।
– रतलाम के सैलाना में एक दिन में एक महीने के बराबर पानी बरस गया। 24 घंटे में 30 सेमी बारिश हुई।
– रतलाम में 20, उज्जैन और गौतमपुरा में 17, जावरा और नीमच में 16 सेमी बारिश हुई। इधर, दो दिन से तर हो रहे भोपाल, विदिशा, सीहोर और रायसेन में रविवार को बारिश थमने से राहत मिली।
– मंगलवार से जबलपुर, शहडोल और छिंदवाड़ा में फिर तेज बारिश होने के आसार हैं। मौसम केंद्र के डायरेक्टर डॉ. अनुपम काश्यपि ने बताया कि बांग्लादेश के पास बना लो प्रेशर सिस्टम छत्तीसगढ़ होता हुआ दस्तक दे सकता है। रविवार को मैहर में बारिश से कई मकान जमींदोज हो गए और 10 से ज्यादा मौतें हो गईं।
– तीन दिन से जारी बारिश से रीवा जिला टापू बन गया है। यहां कई इलाके पानी में डूबे हैं। रेस्क्यू के लिए सेना बुलाई गई है।
– सेना के 60 जवान और दो हेलिकॉप्टर लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन में लगे हुए है। छतरपुर, पन्ना, दमोह, इटारसी, बैतूल, हौशंगाबाद, रायसेन और टीकमगढ़ जिले में बारिश ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा रखी हैं।
#2. बिहार : गंगा में40 साल में सबसे भीषण बाढ़, 12 जिले पानी में डूबे
– बिहार में सोन और गंगा नदी उफन रही है। पटना में गंगा खतरे के निशान से 2 मीटर ऊपर बह रही है। वहीं बक्सर, आरा, पटना, समस्तीपुर, बेगूसराय, कटिहार समेत 12 जिले पानी में डूब गए हैं।
– गंगा नदी में 40 साल में सबसे भीषण बाढ़ आई है। बाढ़ ने 1971 से लेकर अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं।
– पटना सिटी के रिहायशी इलाकों में बाढ़ का पानी घुस गया है। किसी खतरे से निपटने के लिए यहां सेना तैयार है। छपरा, खगड़िया और सासाराम में भी बाढ़ का पानी लोगों के घरों तक पहुंच गया है।
– उधर, सारण में 50 हजार से ज्यादा घर पानी में डूब गए हैं, जबकि रोहतास जिले में भी 100 से ज्यादा गांव पानी में घिरे हुए हैं। करीब डेढ़ लाख की आबादी मुश्किलों में है।
– गंगा और सोन नदी के उफान पर आते ही आरा में पानी भर गया। आरा-सलेमपुर मार्ग पर रविवार को लोग अपना सामान लेकर घर से बाहर चले गए।
#3. राजस्थान : बस में अटकी थी 50 लोगों की जान, बाहर निकलते ही पानी में बहती चली गई
– राजस्थान में मानसून ने 14 दिन बाद चित्तौड़गढ़ में रविवार को फिर बाढ़ के हालात पैदा कर दिए।
– तेज बारिश के बाद उफान पर आई गंभीरी नदी ने शहर की कई कॉलोनियों, बाजार और बस स्टैंड पर हालात गंभीर कर दिए।
– राजस्थान के लसाड़िया-उदयपुर रोड पर एक प्राइवेट बस पुलिया पार करते समय गोमती नदी के पानी में फंस गई। वहां मौजूद लोगों ने सभी 50 पैसेंजर्स और ड्राइवर-कंडक्टर को बाहर निकाल लिया।
– इनके निकलने के कुछ देर बाद ही बस पानी में बह गई। उसका देर शाम तक पता नहीं चला।
#4. उत्तराखंड : बादल फटने से बह गए 2 मकान, 5 डेड बॉडी बरामद…
– रिपोर्ट्स के मुताबिक, पौड़ी जिले के मरखोला गांव में बादल फटने के बाद दो मकान बह गए। मौके से पांच बॉडी मिली हैं। दो लापता हैं। तीन घायल हैं।
#5. यूपी में गंगा और यमुना खतरे के निशान से ऊपर
– यूपी में गंगा समेत कई नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। चित्रकूट में मंदाकिनी का वाटर लेवल चिंताजनक है।
– वाराणसी में गंगा और इलाहाबाद में यमुना खतरे के निशान से ऊपर बह रही है।
Share.

About Author

Leave A Reply