About us

स्कूली बच्चे की स्कूल बस से कुचलकर दर्दनाक मौत

0
भोपाल से 56 किमी दूर नेशनल हाइवे-12 पर मौजूद कुरावर कस्बे में शुक्रवार की सुबह एक 5 साल के स्कूली बच्चे की स्कूल बस से कुचलकर दर्दनाक मौत हो गई।
-शुक्रवार दोपहर करीब 9.30 बजे कुरावर के पास पीलूखेडी की हिंद स्पिनर फैक्ट्री के तकनीकी विभाग में काम करने वाले संजीत झा रोज की तरह अपने छोटे बेटे रोहन उर्फ लक्ष्य को पास के ही निर्मल कान्वेंट स्कूल में बाइक से छोड़कर आए थे। रोहन यहां एलकेजी में पढ़ता था।
-उसके साथियों के मुताबिक वह स्कूल के खेल मैदान में खेल रहा था। तभी स्कूल बस के ड्राइवर ने लापरवाही से बस को रिवर्स में लिया और उसके पिछले पहिए की चपेट में आने से रोहन का सिर कुचल गया।
-घटना के बाद बच्चे चीखे। आवाजें सुनकर स्कूल के ही एक शिक्षक सुनील शर्मा दौड़कर बाहर आए और बच्चे को गोद में लेकर एक अभिभावक की बाइक पर बैठकर उसके इलाज के लिए ले जाने लगे।
-इस बीच पुलिस की डायल-100 को भी खबर की, लेकिन वह नहीं आई। बाइक से वे लोग स्थानीय श्रीदेव पेट्रोल पंप तक ही पहुंचे थे कि बच्चे के पिता संजीत फैक्ट्री की बस लेकर आ गए। इसके बाद उन्होंने बच्चे को ले लिया और इलाज के लिए भोपाल रवाना हो गए। लेकिन रास्ते में श्यामपुर अस्पताल में उसे दिखाया तो डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बाद बच्चे को लेकर वे वापस कुरावर लौट आए।
-बाद में नरसिंहगढ़ के सिविल मेहताब अस्पताल में बच्चे का पीएम करवाकर शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया।
-गमगीन माहौल में बच्चे का दोपहर में अंतिम संस्कार कर दिया गया। बच्चे के पिता संजीत झा की रिपोर्ट पर कुरावर पुलिस ने स्कूल बस के ड्राइवर स्थानीय निवासी 35 वर्षीय विकास उर्फ राज पिता मदनलाल मालवीय के खिलाफ धारा 304-ए के तहत गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है।

हालांकि पिता का यह भी आरोप है…
बच्चे के पिता ने स्कूल प्रबंधन पर अपने बच्चे की मौत के बाद उसके शव को पेट्रोल पंप के पास फेंकने का आरोप लगाया है। बच्चे के पिता संजीत झा ने पुलिस को बताया कि उनके बच्चे की मौत के बाद स्कूल प्रबंधन ने लापरवाही दिखाई और स्कूल से कुछ दूरी पर मौजूद पेट्रोल पंप के पास उसके शव को फिंकवा दिया। बाद में सूचना पर उन्होने पहुंचकर शव को उठाया। दूसरी तरफ स्कूल प्रबंधन ने इसे गलत आरोप बताया है।
-कुछ दूसरे प्रत्यक्षदर्शियों ने भी पुष्टि की है कि स्कूल के शिक्षक बच्चे को इलाज के लिए लेकर गए थे और फैक्ट्री की बस आने के बाद उन्होंने बच्चे को फैक्ट्री स्टाफ के हवाले किया था।

-इस मामले में कुरावर के टीआई जेपी राय का कहना है कि ड्राइवर को हिरासत में ले लिया है। मामले की जांच की जा रही है। जो भी तथ्य मिलेंगे, उनके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।
-रोहन की मौत के बाद से उसकी मां बेबी झा बार-बार बेहोश हो रही हैं। पिता भी सदमे की हालत में हैं। मूल रूप से उत्तरप्रदेश के रहने वाले इस परिवार को यह भी समझ में नहीं आ रहा है कि वे अपने बुजुर्ग अभिभावकों को क्या जवाब देंगे कि रोहन अब इस दुनिया में क्यों नहीं है।
Share.

About Author

Leave A Reply