2019 तक भारत दुनिया का पहला ऐसा देश हो जाएगा जो पूरी तरह LED लाइट्स का ही इस्तेमाल करेगा

0
पॉवर मिनिस्टर पीयूष गोयल ने कहा है कि 2019 तक भारत दुनिया का पहला ऐसा देश हो जाएगा जो पूरी तरह LED लाइट्स का ही इस्तेमाल करेगा। इससे हर साल करीब 40 हजार करोड़ रुपए की बचत होगी। सरकारी कंपनी EESL (Energy Efficiency Services Ltd) ने बुधवार को ऑयल मार्केटिंग कंपनियों इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम से करार किया। इसके मुताबिक, इन कंपनियों के 54 हजार 500 पेट्रोल पंपों पर एलईडी बल्ब, ट्यूब लाइट्स और फैन बेचे जाएंगे।
– EESL और पेट्रोलियम कंपनियों के करार के मौके पर पेट्रोलियम मिनिस्टर धर्मेन्द्र प्रधान भी गोयल के साथ मौजूद थे।
– गोयल एलईडी लाइट्स का जिक्र करते हुए कहा- इससे हमें बेहद फायदा होगा। भारत, शायद दुनिया का पहला ऐसा देश होगा जो 2019 तक पूरी तरह इन लाइट्स का इस्तेमाल करने लगेगा। इससे ये भी साबित होगा कि हम बड़े वादे ही नहीं करते, बल्कि इन्हें पूरा भी करते हैं।
– हालांकि, गोयल ने ये भी साफ कर दिया कि एलईडी प्रोडक्ट्स और फैन्स पेट्रोल पंपों पर बेचे जरूर जाएंगे लेकिन किश्त या ईएमआई की सुविधा यहां नहीं होगी।
– फैसेलिटी की शुरुआत दिल्ली से होगी। इसके बाद इसे पहले यूपी और महाराष्ट्र में शुरू किया जाएगा। इसके बाद बाकी राज्यों का नंबर आएगा।
पेट्रोल पंपों पर बेसिक ऑनलाइन फैसेलिटी भी
– धर्मेन्द्र प्रधान ने कहा- पेट्रोल पंप जल्द ही आईटी मिनिस्ट्री के काॅमन सर्विस सेंटर्स में भी तब्दील किए जाएंगे। यहां तमाम बेसिक ऑनलाइन सर्विसेस मिलेंगी। जैसे, आधार एनरॉलमेंट, आधार अपडेशन के अलावा बिजली और टेलिफोन के बिल भी पेमेंट किए जा सकेंगे। एटीएम पहले ही पेट्रोल पंपों पर लगा दिए गए हैं।
क्या मिलेगा पेट्रोल पंपों पर?
– अब पेट्रोल पंपों पर 9W LED बल्ब 70 रुपए में, 20W LED ट्यूबलाइट 220 रुपए में और फाइव स्टार सीलिंग फैन 1200 रुपए में मिलेंगे।
– उजाला स्कीम के तहत देश में अब तक 25.5 करोड़ LED बल्ब. 30.6 लाख एलईडी ट्यूबलाइट और करीब 11.5 लाख एनर्जी एफिशिएंट फैन्स डिस्ट्रीब्यूट किए जा चुके हैं। इससे 3340 करोड़ किलोवॉट एनर्जी सेविंग हो रही है। पीक डिमांड में 6,725 मेगावॉट की कमी आई है।
– स्कीम से 13,346 करोड़ रुपए की बचत हो रही है। इसके अलावा कार्बन रिडक्शन करीब 2.7 करोड़ टन कम हुआ है।
Share.

About Author

Leave A Reply