About us

लास वेगास में रविवार देर रात एक म्यूजिक फेस्टिवल के दौरान अंधाधुंध फायरिंग की गई

0
अमेरिका के लास वेगास में रविवार देर रात एक म्यूजिक फेस्टिवल के दौरान अंधाधुंध फायरिंग की गई। इसमें 50 लोग मारे गए। करीब 200 जख्मी हुए। यह फेस्टिवल Mandalay Bay रिजॉर्ट और कसीनो में चल रहा था। तभी पास में स्थित एक होटल की 32nd फ्लोर से एक शख्स ने ऑटोमैटिक राइफल से फेस्टिवल में मौजूद लोगों पर गोली चलानी शुरू कर दी। होटल और रिजॉर्ट के बीच की दूरी करीब 500 मीटर है। लोगों को पहले लगा कि आतिशबाजी हो रही है। जैसे ही एक सिक्युरिटी गार्ड मारा गया, लोगों को हमले का अहसास हुआ। इसके बाद वहां अफरातफरी मच गई। पुलिस का मानना है कि हमलावर ने इस घटना को अंजाम देने के बाद खुद को गोली मार ली। इस बीच हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (ISIS) ने ली है। साथ ही दावा किया है कि हमलावर ने अपना धर्म बदलकर इस्लाम को अपनाया था।
 Q. हमला कहां हुआ?
A. हमला Mandalay Bay रिजॉर्ट एंड कसीनो में हुआ। यहां रूट-91 हार्वेस्ट फेस्टिवल चल रहा था। रविवार को इसका आखिरी दिन था। 15 एकड़ में फैले इस रिजॉर्ट और कसीनो में बीते 4 साल से तीन दिन का कंट्री म्यूजिक फेस्टिवल होता है।
Q. हमला कब हुआ?
A. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हमला लोकल टाइम के मुताबिक रविवार रात 10.30 बजे (इंडियन लोकल टाइम के मुताबिक सोमवार सुबह) हुआ। हमले से पहले फेस्टिवल को निशाना बनाए जाने को लेकर एक फोन कॉल भी पुलिस के पास आया था।
Q. कितना नुकसान हुआ?
– अब तक 50 लोगों की मौत हो चुकी है। करीब 200 से ज्यादा लोग जख्मी हैं। इनमें से कई की हालात गंभीर है। एक अनुमान के मुताबिक, हमले के वक्त कसीनो में चल रहे फेस्टिवल में 40,000 लोग मौजूद थे। हमलावर ने ऊपर से गोली बरसानी शुरू कर दी। एक चश्मदीद ने बताया कि ऐसा लग रहा था गोलियों की बरसात हो रही है।
Q. हमलावर ने कहां से बरसाई गोलियां
A. रिजॉर्ट एंड कसीनो के पास मौजूद एक होटल की 32nd फ्लोर से फायरिंग की गई। इस फ्लोर से कसीनो का वह एरीना रेंज में था, जहां म्यूजिक फेस्टिवल चल रहा था। शुरुआती फायरिंग में कसीनो का एक सिक्युरिटी गार्ड मारा गया। इसके बाद में वहां अफरातफरी मच गई।
– Mandalay Bay होटल और केसिनो से 500 मीटर की दूरी पर कॉन्सर्ट वेन्यू था जहां हमला हुआ।
Q. कौन है हमलावर?
A.न्यूज एजेंसी के मुताबिक, लास वेगास मेट्रोपॉलिटन पुलिस डिपार्टमेंट के शेरिफ जोसफ लोम्बार्डो ने बताया कि हमलावर की पहचान स्टीफन पैडॉक के तौर पर हुई है। 64 साल का स्टीफन नेव का रहने वाला है। इसने अकेले ही इस घटना को अंजाम दिया है।
– पुलिस ने उसके साथ एक एशियाई महिला के होने की भी बात कही। इसकी तलाश की जा रही है। इससे पहले इस हमले में तीन लोगों के शामिल होने की बात कही जा रही थी। उधर, पुलिस ने एक जगह गोलीबारी की घटना को अफवाह बताया।
– न्यूज एजेंसी के मुताबिक, इस्लामिक स्टेट ने दावा किया है कि हमलावर ने अपना धर्म परिवर्तन कर इस्लाम को अपनाया था।
Q. क्या हमलावर मारा गया?
A. नहीं, पुलिस के मुताबिक, उसने गोलीबारी के बाद खुद को गोली मारकर अपनी जान दे दी। पुलिस ने बताया- उसने होटल के रूम में हमारे एंट्री करने के पहले खुद को गोली मार ली। पहले खबरें आई थीं कि पुलिस ने हमलावर को मार गिराया था।
Q. हमलावर के होटल रूम से क्या मिला?
A.लास वेगास पुलिस ने बताया कि हमलावर ने होटल की 32वीं फ्लोर के जिस रूम से गोलीबारी की थी, उससे कम से कम 8 गन बरामद की गई हैं।
Q. हमले की जिम्मेदारी किसने ली?
A.न्यूज एजेंसी के मुताबिक, इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (ISIS) ने ली है।
Q. कसीनो में हमले के बाद क्या हुआ?
A. म्यूजिक फेस्टिवल के आखिरी दिन जब हमला हुआ, उस वक्त सिंगर जेसन एल्डीयन परफॉर्मेंस दे रहे थे। जैसे ही ऑडियंस के बीच फायरिंग की आवाज आई, एल्डीयन ने परफॉर्मेंस रोक दी। आसपास मौजूद होटलों से लोगों ने देखा कि कसीनो कैम्पस में भारी अफरातफरी मची हुई थी। लोग बाहर आने लगे।
– हमले के बाद लास वेगास के मैक्कैरेन इंटरनेशनल एयरपोर्ट से 20 से ज्यादा फ्लाइट्स को डाइवर्ट कर दिया गया। एयरपोर्ट भी बंद कर दिया गया है।
Q.हमले में भारतीयों को नुकसान पहुंचा?
A. विदेश मंत्रालय ने बताया कि इस फायरिंग अब तक किसी भी भारतीय के हताहत होने की खबर नहीं है।
Q. क्या ये अमेरिका के इतिहास में मास शूटिंग की सबसे बड़ी घटना है?
12 जून 2016: फ्लोरिडा के ऑरलैंडो में गे नाइटक्लब पल्स में शूटिंग की घटना हुई थी। 29 साल के सिक्युरिटी गार्ड उमर मतीन ने 49 लोगों की जान ले ली थी। इसमें 58 लोग जख्मी हुए थे।
16 अप्रैल, 2007:वर्जिनिया टेक में 23 साल के सिउंग हु चो ने फायरिंग की थी इसमें 32 लोग मारे गए थे। बाद में हमलावर ने खुद को गोली मार दी थी।
14 दिसम्बर, 2012: 20 साल के एडम लांजा ने स्कूल में फायरिंग की थी। इसमें 26 लोग मारे गए थे, जिसमें 20 बच्चे और 6 एडल्ट शामिल थे। बाद में इस हमलावर ने खुद को गोली मार ली थी।
16 अक्टूबर, 1991: 35 साल के जार्ज हेनर्ड ने टेक्सास के एक कैफेटेरिया में लोगों को निशाना बनाया था। इसमें 23 लोग की जान चली गई थी। बाद में इसने सुसाइड कर लिया था।
18 जुलाई, 1984: सैन यिशड्रो के मैकडोनाल्ड्स में 41 साल के जेम्स ह्यूबर्टी ने गोलीबारी की थी। इसमें 21 लोग मारे गए थे।
1 अगस्त, 1966: यूएस मरीन में काम कर चुके चार्ल्स जोसेफ व्हाइटमैन ने टेक्सास यूनिवर्सिटी में गोलीबारी की थी। इसमें जोसेफ ने 16 लोगों को मार दिया था। इसे बाद में पुलिस ने मार गिराया था।
20 अगस्त, 1986: ओकला के एक पोस्ट ऑफिस में पार्ट-टाइम मेल कूरियर पैट्रिक हेनरी ने फायरिंग की थी। इसमें 14 लोग मारे गए थे। घटना के बाद उसने खुद को गोली मार ली थी।
2 दिसंबर 2015: कैलिफोर्निया के सैन बर्नार्डिनो के एक सर्विस सेंटर में एक कपल ने फायरिंग कर 14 लोगों को मार डाला था। इस हमले में 20 लोग जख्मी हुए थे। हालांकि, आरोपी सईद रिजवान फारुक और ताशफीन मलिक भी बाद में मारे गए थे।
25 फरवरी 2016:केन्सास की हेस्टन सिटी में एक फैक्ट्री में 38 साल के केडरिक फोर्ड ने फायरिंग की। 3 तीन की मौत हो गई। 14 लोग जख्मी हुए थे।
Share.

About Author

Leave A Reply