About us

अखिल भारतीय किरार क्षत्रिय महासभा को कोटरा सुल्तानाबाद में 10 हजार स्क्वेयर फीट जमीन देने की तैयारी कर रही है राज्य सरकार

0

राज्य सरकार अखिल भारतीय किरार क्षत्रिय महासभा को कोटरा सुल्तानाबाद में 10 हजार स्क्वेयर फीट जमीन देने की तैयारी कर रही है। किरार समाज ने सामाजिक व सांस्कृतिक गतिविधियों के लिए यह जमीन मांगी है। जिला प्रशासन ने 29 जुलाई से 15 दिन में इसके लिए दावे-आपत्ति बुलाए हैं। इस जमीन की कीमत सरकारी गाइडलाइन के हिसाब से करीब 3 करोड़ रुपए है। किरार क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय महामंत्री डॉ. सुरजीत सिंह चौहान ने 17 अप्रैल को जमीन के लिए आवेदन दिया है। महासभा ने कोटरा-सुल्तानाबाद स्थित खसरा क्रमांक 146 में से 10 हजार वर्गफीट जमीन मांगी है। जिला प्रशासन ने अभी इस 146 क्रमांक के खसरे पर भूमि उपयोग की जानकारी के लिए टीएंडसीपी को नहीं लिखा है।

मास्टर प्लान 2005 के हिसाब से इस खसरे की जमीन पर मनोरंजन पार्क, वनीकरण, वनस्पति उद्यान, सामान्य और आवासीय मार्ग है। इसका कुल क्षेत्रफल 6.54 हेक्टेयर है। इसमेंं से 10 हजार वर्गफीट जमीन दी जाएगी। वर्तमान में शासन ने जीएडी कैपिटल प्रोजेक्ट के तहत जमीन को आरक्षित कर रखा है। प्रशासन दावे-आपत्ति की प्रक्रिया के बाद प्रस्ताव को राज्य शासन के पास भेजेगा। शासन से मंजूरी के बाद टीएंडसीपी से भू-उपयोग की मंजूरी के बाद आवंटन होगा।

जमीन आवंटन से पहले दावे-आपत्ति बुलाना जरूरी:पूर्व सीएम उमा भारती के शासनकाल में 25 सितंबर 2004 को कुशाभाऊ ट्रस्ट को बावड़िया कलां में सस्ती दरों पर जमीन का आवंटन किया था। इस ट्रस्ट के न्यासियों में वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी, वेंकैया नायडू और मुरली मनोहर जोशी शामिल हैं। जमीन का आवंटन एक याचिका के बाद सुप्रीम कोर्ट ने वर्ष 2011 में रद्द कर दिया था। कोर्ट के फैसले के आधार पर नई नीति बनाई गई। राजस्व विभाग के जमीन आवंटन की नई नीति 30 अगस्त 2013 को जारी हुई थी। नीति में साफ है कि संस्थाओं को जमीन आवंटन के पहले दावे-आपत्ति बुलाना होंगे। अगर कोई संस्था भी जमीन आवंटन की मांग करेगी तो उन्हें भी मौका दिया जाएगा।

किरार क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय महामंत्री डॉ. सुरजीत सिंह चौहान के मुताबिक, महासभा की सामाजिक गतिविधियों के लिए जमीन आवंटन पर पत्र व्यवहार किया था। अभी जन आशीर्वाद यात्रा में हूं। जिला प्रशासन ने जमीन आवंटन पर दावे-आपत्तियां बुलवाई है, ये तो मैं देखकर ही कुछ बता सकूंगा।

टीटी नगर एसडीएम संजय श्रीवास्तव ने बताया कि कोटरा-सुल्तानाबाद क्षेत्र में जमीन आवंटन का सामाजिक संस्था का पहला आवेदन है। किरार महासभा ने प्रशिक्षण संस्थान खोलना चाहा है। जमीन का भू-उपयोग आमोद-प्रमोद और आवासीय है। 15 दिन में दावे-आपत्ति बुलवाए गए है।

Share.

About Author

Leave A Reply