About us

अगर कांग्रेस की सरकार बनी तो वर्तमान कार्यकारी अध्यक्ष सुरेंद्र चौधरी भी उपमुख्यमंत्री हो सकते

0

विधानसभा चुनाव के पहले कांग्रेस ने दलित समाज को साधने की तैयारी शुरू कर दी है। प्रदेश कांग्रेस प्रभारी दीपक बावरिया ने कहा कि अगर कांग्रेस की सरकार बनी तो वर्तमान कार्यकारी अध्यक्ष सुरेंद्र चौधरी भी उपमुख्यमंत्री हो सकते हैं।

– उन्होंने कहा कि बौद्ध समाज को भाजपा ने कभी महत्व नहीं दिया। कांग्रेस ने देश को दलित राष्ट्रपति दिए। मप्र में ठीक वैसी ही परिस्थितियां पैदा करना है, जो गुजरात के दलित समाज ने पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान की थीं। भाजपा सरकार को सत्ता से उखाड़ना ही चुनौती होना चाहिए।

– वह प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में बौद्ध समाज सामूहिक कल्याण समिति के कार्यक्रम में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि आरएसएस के इशारे पर काम करने वाली भाजपा संविधान को मिटाने का लगातार प्रयास कर रही है। भाजपा के मंत्री कहते हैं हम शासन करने के लिए नहीं संविधान बदलने के लिए आये हैं। मोहन भागवत आरक्षण पर पुनर्विचार की बात करते हैं।

प्रधानमंत्री दलितों के मुद्दे पर मौन

– रोहित वेमुला, राजस्थान की घटना, दलितों को जिंदा जलाये जाने की घटना, खंभे से बांधकर मार दिये जाने की घटना के बाद भी मन की बात करने वाले प्रधानमंत्री दलितों के मुद्दे पर मौन हैं। भाजपा और संघ के लोग सामने से तो माला चढ़ाते हैं और पीछे से बाबा साहेब की प्रतिमा का अपमान करते हैं।

मनुवादी दलितों को एक नहीं होने देना चाहते

– इस मौके पर प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष सुरेंद्र चौधरी ने कहा कि भाजपा के राज में दलितों को सम्मान और समानताएं नहीं मिलती, बाबा साहेब और उनके संविधान के खिलाफ भाजपा कुचक्र रच रही है। लेकिन कांग्रेस दलितों के उत्थान की आवाज उठाती रही है। मनुवादी लोग इस वर्ग को एक नहीं होने देना चाहते हैं।

Share.

About Author

Leave A Reply