About us

अफसर रिश्वत मांगें तो मुझे करें शिकायत, छुट्टी कर दूंगा : सीएम

0

मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना (संबल) का शुभारंभ करते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहानने कहा कि योजना का लाभ प्रदेश के सभी नगरीय निकायों में असंगठित श्रमिकों को मिलेगा। बुधवार को सुबह हरदा के टिमरनी और शाम को भोपाल के लाल परेड ग्राउंड में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान उन्होंने कई करोड़ के विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इस योजना में प्रदेश भर से एक करोड़ 80 लाख श्रमिकों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। इसके साथ ही 15 अगस्त से लागू हो रही, 75 लाख लोगों को आयुष्मान भारत के तहत चिकित्सा लाभ मिलेगा।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में कहा कि अपना हक लड़कर लेना होगा, अगर कोई अफसर रिश्वत मांगें तो मुझे बताएं। उस अफसर की छुट्टी कर दूंगा। सीएम ने (संबल) के हितग्राहियों को सहायता राशि एक क्लिक से उनके खातों में ट्रांसफर की।

सीएम ने कहा, “दुनिया में गरीबों के कल्याण की सबसे बड़ी योजना है। यह योजना गरीबों के जीवन में नया उजाला लाने और इन्हें समर्थ बनाने का काम करेगी। जो दुनिया में कहीं नहीं हुआ आज मध्यप्रदेश की धरती पर होने जा रहा है। एक नया इतिहास रचा जा रहा है। गरीबों के कल्याण के लिए इतनी बड़ी योजना विश्व में कभी नहीं बनी। गरीबों के जीवन में नया उजाला आ जाएगा तो मैं अपना जीवन सार्थक समझूँगा।”

संकल्प लो, योजना को सफल बनाएंगे
मेरे भाइयों और बहनों आइए हम संकल्प लें कि मुख्यमंत्री जन कल्याण योजना को सफल बनाने और इसके बेहतर क्रियान्वयन के लिए हम अपना पूरा योगदान करेंगे। आप लोगों के सहयोग से ही यह कार्य संभव हो सकेगा। उन्होंने गरीब परिवार के मुखिया की 60 साल से कम आयु में मृत्यु होने पर 2 लाख और दुर्घटना में मृत्यु होने पर 4 लाख रुपये दिये जायेंगे, ताकि गरीब के परिवार की गाड़ी भी चलती रहे।

1 करोड़ 82 लाख श्रमिका ने कराया रजिस्ट्रेशन
– मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना में 1 करोड़ 82 लाख 51 हजार 832 असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों ने पंजीकरण कराया है। कार्यक्रम में 1 लाख 25 हजार महिलाओं को 4 हजार के मान से 50 करोड़ रुपए की प्रसूति सहायता दी गई।

आयुष्मान भारत में 75 लाख लोगों को मिलेगा फायदा
– आयुष्मान योजना 15 अगस्त से शुरू होगी, जिसमें 75 लाख लोग लाभान्वित होंगे, लेकिन संबल के तहत 1.81 करोड़ पंजीकृत हैं, ऐसे में बाकी बचे श्रमिकों का इलाज सरकार कराएगी।

पहली कक्षा से लेकर पीएचडी तक का खर्चा सरकार भरेगी
– मेरे गरीब भाई-बहनों के बच्चों में भी प्रतिभा होती है। आपके बच्चे भी पढ़-लिखकर सफलता की बुलंदियों तक पहुंच सकते हैं। इसलिए मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना (संबल) के तहत पहली कक्षा से लेकर पीएचडी तक की पढ़ाई का खर्च सरकार उठाएगी।

प्रदेश के 282 करोड़ की सहायता राशि बांटी
– जनकल्याण योजना के तहत प्रदेश में 2 लाख 55 हजार 700 श्रमिकों को 282 करोड़ रुपए की सहायता राशि दी जा रही है। 1400 लोगों को बीमारी सहायता के 15 करोड़ रुपए, सामान्य मृत्यु एवं स्थाई अपंगता पर 2500 श्रमिकों को 50 करोड़ रुपए दिए गए हैं।

गरीबों के पुराने बिल माफ किए
गरीब भाई-बहनों के लिए संबल के तहत जुलाई-अगस्त में शिविर लगा कर बिजली के पुराने बिल माफ किए जाएंगे और इसके बाद 200 रुपए प्रति माह की दर से फ्लैट रेट पर बिजली दी जा रही है।

हर साल एक लाख युवाओं को मिलेगा लोन
– हर साल 1 लाख युवाओं को स्वरोजगार के लिए लोन दिलाएंगे, जिसकी गारंटी सरकार लेगी। साथ ही महिलाओं के स्व सहायता समूहों को आर्थिक रूप से सशक्त करने के लिए काम उपलब्ध करा रहे हैं।
– सीएम ने कहा कि मजदूर के हाथों को मजबूर नहीं रहने दूंगा। श्रमिक बहन के गर्भवती होने पर 6वें से 9वें महीने में 4 हजार और प्रसव के बाद 12 हजार रुपये दिये जायेंगे, ताकि बहन और भांजा-भांजी भी पोषण आहार लें और स्वस्थ रहें।
Share.

About Author

Leave A Reply