About us

आगामी 24 घंटों में छिंदवाड़ा, जबलपुर, मंडला, बालाघाट, नरसिंहपुर, सिवनी, कटनी, होशंगाबाद, बैतूल, हरदा, धार, इंदौर, खंडवा, खरगौन, अलीराजपुर, झाबुआ, बड़वानी, बुरहानपुर जिलों में कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ हल्की बौछारें पड़ सकती हैं

0

सर्दी ने अपने तेवर दिखाना शुरू कर दिए हैं। दीपावली के एक दिन पहले शनिवार को इसका अहसास हो गया। प्रदेश के अधिकांश जिलों में बादलों के बीच सुरज की लुकाछिपी दिनभर चलती रही। मौसम विभाग ने आगामी दिनों में तापमान में और कमी आने की संभावना व्यक्त की है। मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार बीते 24 घंटों के दौरान जबलपुर, इंदौर, एवं होशांगाबाद संभाग के कुछ जिलों में बूंदा-बांदी के साथ बारिश दर्ज की गई है। प्रदेश के शेष संभागों में मौसम शुष्क रहा है। इन 24 घंटों में रीवा, शहडोल, सागर उज्जैन एवं ग्वालियर संभाग के  अधिकांश जिलों में तापमान में काफी गिरावट दर्ज की गई है। सबसे कम न्यूनतम तापमान बैतूल में 14.0 और ग्वालियर 14.2 डिग्री दर्ज किया गया है। हवाओं के बदले रुख से ठंडक बढ़ गई है। तीन दिन से ग्वालियर प्रदेश का दूसरा सबसे ठंडा शहर बना हुआ है। शनिवार को बैतूल के बाद ग्वालियर का न्यूनतम तापमान सबसे कम दर्ज किया गया। बैतूल का न्यूनतम तापमान 14.0 डिग्री सेल्सियस रहा, वहीं ग्वालियर का तापमान 14.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सर्दी का असर सुबह और रात में दिख रहा है। सुबह 9 बजे तक धुंध रही। दिन में बिखरे-बिखरे बादल भी छाए। ग्वालियर में 6 दिन में रात का तापमान 6.5 डिग्री लुढ़क चुका है।
यहां पड़ सकती हैं गरज-चमक के साथ बौछारें: मौसम विभाग के मुताबिक आगामी 24 घंटों में छिंदवाड़ा, जबलपुर, मंडला, बालाघाट, नरसिंहपुर, सिवनी, कटनी, होशंगाबाद, बैतूल, हरदा, धार, इंदौर, खंडवा, खरगौन, अलीराजपुर, झाबुआ, बड़वानी, बुरहानपुर जिलों में कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ हल्की बौछारें पड़ सकती हैं। प्रदेश के अन्य जिलों में मौसम शुष्क रहेगा।

3 से 4 डिग्री लुढ़क सकता है पारा : राजधानी भोपाल में शनिवार सुबह से बादल छाए हुए हैं। दीवाली बाद माह के अंत में ठंड बढ़ सकती है। सुबह से शाम तक हल्के बादल छाए रहे। दोपहर में कुछ देर के लिए हल्की धूप निकली, लेकिन शाम चार बजे के बाद फिर बादलों ने डेरा जमा लिया था। बादल छंटते ही रात के तापमान में 3-4 डिग्री तक की गिरावट होने का अनुमान है।

Share.

About Author

Leave A Reply