About us

कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया अटलजी के निवास पर पहुंचे और उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए

0

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को अंतिम विदाई देने मध्य प्रदेश के कांग्रेस और भाजपा के सभी बड़े नेता दिल्ली में हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, नरेंद्र सिंह तोमर सहित कई नेता कल शाम को ही अटलजी के निवास पर श्रद्धासुमन अर्पित करने पहुंचे थे। शुक्रवार सुबह कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया अटलजी के निवास पर पहुंचे और उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए। अटलजी की देह के पास कुछ देर खड़े रहने के बाद सिंधिया ने फर्श पर सिर रख अटलजी के चरण स्पर्श किए।

अटलजी देश के राजनैतिक पितामह : आनंदीबेन

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा है कि अटलजी के निधन से देश को अपूरणीय क्षति हुई है। वे देश के राजनैतिक गुरु और पितामह थे। वे कठिन और विपरीत परिस्थितियों में कभी भयभीत नहीं होते थे। उनके शासन काल में भारत ने सफल परमाणु परीक्षण किया। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा ने कहा कि राजनीति के धुर विरोधी भी अटलजी की विचारधारा और कार्यशैली के कायल थे। उनके निधन से देश की राजनीति में बड़ा शून्य उत्पन्न हुआ है।

समन्वयवादी राजनीति का सफल प्रयोग किया

भाजपा नेताओं ने कहा कि अटलजी ने समन्वयवादी राजनीति का सफल प्रयोग किया। उनका जाना दुखी करता है। केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज, पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. विनय सहस्रबुद्धे, केंद्रीय मंत्री नरेन्द्रसिंह तोमर व थावरचंद गेहलोत, कैलाश विजयवर्गीय, प्रभात झा, विक्रम वर्मा, नंदकुमार सिंह चौहान समेत तमाम सांसद, विधायकों और प्रदेश सरकार के मंत्रियों ने श्रद्धांजलि दी। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा कि अटलजी ने अपने सर्वग्राही और सर्व-स्पर्शी व्यवहार से न सिर्फ भारत में बल्कि, देश की सीमाओं से परे विश्व में सम्मानजनक स्थान बनाया था।

चुनाव समिति की बैठक स्थगित

 अटलजी के निधन पर गुुरुवार को कांग्रेस चुनाव समिति की बैठक स्थगित कर दी गई। कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा कि अटल जी के निधन से एक युग का अंत हो गया। उन्होंने कहा कि वे एक ऐसे संवेदनशील महापुरूष थे, जिनकी स्वीकार्यता पूरे देश में थी। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि अटलजी का जाना उनके लिए व्यक्तिगत क्षति है। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि अटलजी का निधन भारतीय राजनीति के लिए गहरी क्षति है। वे सही मायने में जननेता थे। उन्होंने हमेशा राजधर्म का पालन किया। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कि अटलजी दलीय नहीं सर्वमान्य नेता थे।
Share.

About Author

Leave A Reply