About us

किर्गिस्तान यात्रा के लिए पाकिस्तान 72 घंटे तक हवाई क्षेत्र खोलने को तैयार

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की किर्गिस्तान यात्रा के लिए पाकिस्तान 72 घंटे तक हवाई क्षेत्र खोलने को तैयार हो गया, लेकिन मोदी ने गुरुवार को ओमान-ईरान के रास्ते जाने का फैसला किया। वे 13 और 14 जून को शंघाई समिट में शामिल होने के लिए बिश्केक गए हैं। इमरान सरकार ने कहा है कि भारत के इनकार के बाद भी वह सद्भाव पूर्ण रवैया रखते हुए मोदी के वीवीआईपी एयरक्राफ्ट से किर्गिस्तान जाने-आने के लिए विशेष रूप से हवाई क्षेत्र खुला रखेगा। पाकिस्तान के उड्डयन मंत्री गुलाम सरवर खान ने बुधवार को बताया कि हवाई क्षेत्र खोलने को लेकर हमें भारतीय उच्चायोग की ओर से सोमवार को आवेदन मिला था। इसके बाद प्रधानमंत्री इमरान खान ने अधिकारियों से चर्चा के बाद हवाई क्षेत्र खोलने को मंजूरी दी। रेडियो पाकिस्तान के मुताबिक, गुरुवार को मोदी के एयरक्राफ्ट बी 747-400 के बिश्केक जाने और अगले दिन वहां से लौटने तक 72 घंटे के लिए हवाई क्षेत्र खुला रहेगा।

भारत ने कहा- इमरान के कोई मुलाकात नहीं होगी
इससे पहले भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने बताया था कि हमने वीवीआईपी विमान के बिश्केक जाने के लिए दो विकल्प तलाशे हैं। ओमान और ईरान के रास्ते जाने का फैसला लिया है। इमरान खान भी एससीओ समिट में शामिल होने के लिए बिश्केक गए हैं। कहा जा रहा था कि 14 फरवरी को पुलवामा हमले के बाद दोनों देशों के बीच तनाव को कम करने के लिए भारत-पाक के प्रधानमंत्री शंघाई समिट के इतर मुलाकात कर सकते हैं। हालांकि, भारत सरकार ने इससे इनकार किया है।  पाकिस्तान सरकार ने पिछले महीने पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के लिए भी अपना हवाई क्षेत्र खोला था। तब सुषमा पाकिस्तान के ऊपर से उड़ान भरकर एससीओ विदेश मंत्रियों की समिट के लिए बिश्केक गई थीं।

हवाई क्षेत्र में लगाए बैन की समय सीमा 28 जून: पाक 
न्यूज एजेंसी ने एविएशन अथॉरिटी के हवाले से कहा है कि पाकिस्तान ने भारत के लिए पूर्वी सीमा के हवाई क्षेत्र में लगाए गए बैन की समयसीमा को 28 जून तक बढ़ा दिया है। 26 फरवरी को बालाकोट में जैश के ठिकानों पर भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्राइक के बाद भारत-पाक ने एक-दूसरे के लिए हवाई क्षेत्र बंद कर दिए थे। अब तक पाकिस्तान ने भारत के लिए 11 में सिर्फ दो मार्ग खोले थे, जो दक्षिण पाकिस्तान के ऊपर से होकर गुजरते हैं। इससे पहले भारतीय वायुसेना ने 31 मई को कहा था कि एयर स्ट्राइक के बाद भारतीय हवाई क्षेत्र में लगाए गए अस्थाई प्रतिबंधों को हटा लिया गया है।

Share.

About Author

Leave A Reply