About us

केरल में नौ दिन से भारी बारिश और बाढ़ के चलते 324 लोगों की मौत हुई

0

तिरुअनंतपुरम.  केरल में नौ दिन से भारी बारिश और बाढ़ के चलते 324 लोगों की मौत हुई। भूस्खलन और बाढ़ में गुरुवार को 106 जानें गईं। सेना के साथ एनडीआरएफ की टीमें राहत कार्य में जुटी हैं। करीब 2 लाख 23 हजार लोगों को 1500 राहत शिविरों में पहुंचाया गया है। शुक्रवार को नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री पिनरई विजयन से फोन पर बात की। उन्होंने ट्वीट में बताया कि वे बाढ़ के हालात का जायजा लेने केरल के लिए रवाना हो गए।

मुख्यमंत्री विजयन ने ट्विटर के जरिए मुख्यमंत्री राहत कोष का बैंक खाता नंबर शेयर कर लोगों से मदद की अपील की। पंजाब और दिल्ली सरकार ने 10-10 करोड़ रुपए की सहायता देने का ऐलान किया। भीषण आपदा के बीच अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी आ गई। यातायात ठप होने से ज्यादातर पेट्रोल पंप सूखे पड़े हैं। कई इलाकों में पेयजल संकट गहरा गया है। रेलवे ने राज्य में पीने के पानी से भरे टैंकर रवाना किए।

सोशल मीडिया के जरिए मदद की अपील : शुक्रवार को नौसेना के हेलिकॉप्टर ने एक गर्भवती को एयरलिफ्ट किया। सेना के अस्पताल में महिला की डिलिवरी कराई गई। वरुण धवन, अनुष्का शर्मा और अभिषेक बच्चन समेत तमाम बॉलीवुड एक्टरों ने हेल्पलाइन नंबर शेयर किए। साथ ही लोगों से मदद के लिए आगे आने को कहा है। विदेशों में रहने वालों को बाढ़ में फंसे परिजनों की चिंता सता रही है। वे टीवी चैनल और सोशल मीडिया के जरिए अपनों की मदद की गुहार लगा रहे हैं।

केरल में तीन दिन भारी बारिश का अलर्ट : मौसम विभाग ने रविवार तक केरल में भारी बारिश की चेतावनी दी है। राज्य के 14 में से 13 जिलों में रेड अलर्ट घोषित किया गया है। कासरगोड़ा, इडुक्की, अलाप्पुझा, त्रिशूर, एर्नाकुलम जिले में हालात सबसे बदतर हैं। पेरियार नदी में बाढ़ से कोच्चि एयरपोर्ट समेत शहर के ज्यादातर इलाके डूब गए। ये एयरपोर्ट 26 अगस्त तक बंद रहेगा। बारिश की वजह से इडुक्की, मल्लाप्पुरम और कन्नूर जिले में कई जगहों पर भूस्खलन हुआ।

1924 के बाद केरल में सबसे बड़ी आपदा : गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी पिछले दिनों केरल के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे कर चुके हैं। उन्होंने कहा था कि केंद्र सरकार इस मुश्किल घड़ी में केरल के लोगों की पूरी मदद करेगी। केंद्र की ओर से उन्होंने 100 करोड़ की मदद का ऐलान भी किया। हालांकि, मुख्यमंत्री विजयन ने सरकार से 8,316 करोड़ के राहत पैकेज की मांग की है।

सेना के जवानों ने एर्नाकुलम में कई लोगों को रेस्क्यू किया।
Share.

About Author

Leave A Reply