About us

जेल पहुंचे सलमान… कैदी नंबर 106 बनाया गया

0

करीब ग्यारह साल बाद सलमान खान एक बार फिर देश की सबसे सुरक्षित जेलों में से एक जोधपुर जेल पहुंच गए। इस जेल में चौथी बार पहुंचे सलमान को कैदी नंबर 106 बनाया गया है। उन्हें वार्ड नंबर 2 के एक कमरे में अकेले में रखा गया है। अब वे जेल में आसाराम के पड़ोसी बन गए है। ग्यारह बरस में जोधपुर जेल काफी बदल चुकी है और यहां कई कुख्यात गैंगस्टर बंद है, जिनसे सलमान की जान को खतरा हो सकता है। ऐसे में उन्हें जेल में सबसे सुरक्षित मानी जाने वाले स्थान पर रखा गया है। जेल पहुंचे सलमान…

– कड़े सुरक्षा घेरे में पुलिस सलमान को लेकर करीब तीन बजे जेल पहुंची। सुरक्षा कारणों से पुलिस ने उनका मेडिकल जेल के भीतर ही कराने का फैसला लिया। जेल पहुंचते ही उन्हें कैदी नंबर 106 प्रदान किया गया। जेल में अब वे आसाराम के पड़ोसी बन गए है। उन्हें जेल की डिस्पेंसरी के निकट सबसे सुरक्षित माने जाने वाले वार्ड नंबर दो के एक कमरे में रखा गया है। इस वार्ड में आसाराम पहले से बंद है। जेल में यह स्थान सबसे सुरक्षित माना जाता है।

काफी बदल चुकी है जेल

– जेल अधीक्षक विक्रम सिंह का कहना है कि सलमान को जेल में पूरी सुरक्षा प्रदान की जाएगी। लारेंस के गुर्गों सहित अन्य खतरनाक बंदियों को अलग बहुत सुरक्षित बैरकों में रखा हुआ है और उनके प्रत्येक मूवमेंट पर नजर रखी जाती है। सलमान को सबसे सुरक्षित बैरक में रखा जाएगा। आसाराम की बैरक में भी रख सकते है। यदि आवश्यक हुआ तो उन्हें अकेले अलग बैरक में भी रख सकते है।

– उन्होंने कहा कि ग्यारह बरस में जेल में काफी सुधार कार्य हो चुके है। सलमान ने बाथरूम की शिकायत की थी, लेकिन इस बार उन्हें ऐसी शिकायत का अवसर नहीं मिलेगा। हालांकि उन्होंने बाथरूम सुधार का अपना वादा नहीं निभाया, लेकिन हमने अपने स्तर पर उनमें काफी सुधार करवा दिया।

सलमान ने किए थे ये वादे

– वर्ष 2006 में पांच साल की सजा सुनाए जाने के बाद सलमान छह दिन के लिए जोधपुर जेल में कैदी नंबर 210 बनकर रहे थे। जेल में सलमान की बैरक में हत्या के आरोप में सजा काट रहा महेश सैनी रहा था। जेल में रहने के दौरान यहां के सीमित और बदबूदार टॉयलेट्स के कारण सलमान को सबसे अधिक दिक्कतों का सामना करना पड़ा था। इसके अलावा जेल की गर्मी ने सलमान की जमकर परीक्षा ली। जेल की बैरक के सीमित पंखों में सलमान को एक-एक पल निकालना भारी पड़ गया था। इससे सलमान को अहसास हुआ कि जेल के अन्य बंदी कितनी दिक्कतों का सामना कर रहे है। रिहा होते समय उन्होंने वादा किया था कि वे जेल के सभी टॉयलेट्स को सुधारने और बैरक में कूलर लगाने के लिए राशि प्रदान करेंगे। जेल से निकलने के बाद माया नगरी मुंबई लौटने के बाद सलमान अपना वादा भूल गए।

यौन उत्पीड़न के आरोपी है आसाराम

– एक नाबालिग छात्रा के यौन उत्पीड़न के आरोप में सितम्बर 2013 से आसाराम जोधपुर जेल में बंद है। स्वयं को आध्यात्मिक गुरु मानने वाले आसाराम के लाखों समर्थक देशभर में है और बड़ी संख्या में उन्हें देखने जोधपुर आते रहते है।

गैंगस्टर ने ऐसे दी थी धमकी

– पंजाब-हरियाणा का कुख्यात गैंगस्टर लारेंस ने आठ जनवरी को कोर्ट में पेश किए जाने के दौरान पुलिस की उपस्थिति में खुलेआम धमकी दी थी कि वे सलमान को यहीं पर मारेंगे। और सब देखते रह जाएंगे। उसने कहा था कि मैंने आज तक कोई ऐसा काम नहीं किया, जिसके लिए मुझ पर मुकदमा दर्ज किया जाए। पुलिस फर्जी मुकदमों में मुझे फंसा रही है। पुलिस अगर यही चाहती है कि मैं कुछ कर दिखाऊं तो अब सलमान खान को मार कर दिखाऊंगा और यहीं जोधपुर में। तब पुलिस को मालूम पड़ेगा कि मैं क्या कर सकता हूं। लारेंस गैंग के ट्रैक रिकार्ड को ध्यान में रख पुलिस इस धमकी को गंभीरता से ले रही है। हालांकि इन दिनों लारेंस भरतपुर जेल में बंद है, लेकिन उसके बीस खतरनाक गुर्गे इन दिनों जोधपुर जेल में बंद है।

कौन है गैंगस्टर लारेंस

– लॉरेंस स्टूडेंट ऑर्गनाइजेशन ऑफ पंजाब यूनिवर्सिटी (सोपू) नामक संगठन का कर्ताधर्ता है। लॉरेंस डिफरेंट स्टाइल में समाजसेवा करने का दावा करता है। पंजाब और हरियाणा की सबसे खतरनाक गैंगों में से एक का लीडर लॉरेंस है और अपनी गैंग का संचालन अमूमन जेल से ही करता है। उसके पास महंगी पिस्तौल और बंदूकों का जखीरा भी है। इसकी गैंग व्यापारियों से अवैध वसूली का काम करती है। जोधपुर में आनंदपाल की मौत के बाद लारेंस उसकी गैंग पर कब्जा जमा राजस्थान में अपने पांव पसार रहा है। कुछ बड़ा करने की चाह में वह सलमान खान को मारने की फिराक में है, ताकि वन्यजीव प्रेमी विश्नोई समुदाय में वह हीरो बन सके।

Share.

About Author

Leave A Reply