About us

पद्मावत 25 जनवरी को रिलीज होगी, सुप्रीम कोर्ट और सेंसर बोर्ड पहले ही फिल्म को हरी झंडी दे चुका है

0
  • संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत के खिलाफ देशभर में करणी सेना और राजपूत संगठनों का विरोध-प्रदर्शन जारी है। सुप्रीम कोर्ट और सेंसर बोर्ड पहले ही फिल्म को हरी झंडी दे चुका है। मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने फैसले पर दोबारा विचार करने वालीं मध्य प्रदेश और राजस्थान सरकार की पिटीशंस को खारिज कर दिया। उधर, विरोध के चलते गुजरात के बाद बिहार के ज्यादातर थियेटर मालिकों ने फिल्म नहीं दिखाने का फैसला लिया है। वहीं, करणी सेना का दावा है कि पद्मावत की रिलीज के खिलाफ राजपूत समाज की 1908 महिलाएं चित्तौड़गढ़ में जौहर करने के लिए रजिस्ट्रेशन करा चुकी हैं। बता दें कि पद्मावत 25 जनवरी को रिलीज होगी।

     पद्मावत को लेकर 7 राज्य में क्या हाल है?

    1) राजस्थान
    – सुप्रीम कोर्ट में राजस्थान सरकार की पिटीशन खारिज होने पर राजपूत करणी सेना के प्रमुख लोकेंद्र सिंह काल्वी ने कहा, ”अब हमें किसी और से नहीं बल्कि सिनेमाहॉल मालिकों से उम्मीद है कि वो फिल्म को ना लगाएं।”
    – गृह मंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने हमारी याचिका खारिज कर दी। अब लॉ एंड ऑडर को संभालना मेरी और मेरी टीम की जिम्मेदारी है।
    – वहीं, फिल्म के विरोध में सवाई माधोपुर समेत कई जिलों में करणी सेना ने प्रदर्शन किया। सोमवार को जयपुर में कई सिनेमा हॉल के सामने प्रदर्शन हुए थे। भीलवाड़ा में एक शख्स टेलिफोन टॉवर पर चढ़ गया।

    2) मध्य प्रदेश

    – राज्य सरकार की पिटीशन खारिज होने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, ”ये सिर्फ लॉ एंड आर्डर का मामला नहीं है, बल्कि लोगों की भावनाओं से जुड़ा सवाल है। इसलिए सरकार रिव्यू पिटीशन फाइल करेगी।”
    – मंत्री रामपाल सिंह राजपूत ने कहा, ‘”हम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं। कोई ऐसा रास्ता खोजने की कोशिश में हैं ताकि सुप्रीम कोर्ट और जनभावनाओं का सम्मान बना रहे।”
    – भोपाल में सिनेमाहॉल मालिकों को फिल्म नहीं दिखाने जाने की चेतावनी दी गई है। वहीं, मंदसौर, नागदा, झाबुआ और देवास में चक्काजाम किया गया। सोमवार को भी राजस्थान और गुजरात से सटे राज्य के पश्चिमी जिलों में करणी सेना ने रोड जाम और तोड़फोड़ की।

    3) उत्तर प्रदेश

    – पद्मावत की रिलीज पर विवाद के बीच करणी सेना यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से भी मिलने पहुंची। इसके बाद लोकेंद्र सिंह कालवी ने कहा था कि बाकी राज्यों की तरह यूपी सरकार भी चिंतित है। योगी ने गंभीरता से हमारी बात सुनी। उन्हें इस मुद्दे की संवेदनशीलता की जानकारी है।
    – वेस्ट यूपी के हापुड़ में कुछ लोगों ने एक सिनेमाहॉल में तोड़फोड़ की। इससे पहले सोमवार को मथुरा में प्रदर्शन हुए। गौतमबुद्ध नगर (नोएडा) में रविवार को हुए प्रदर्शनों के बाद 200 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। गोरखपुर में भी कई जगह विरोध हुआ।

    4) हरियाणा

    – सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि अगर सिनेमाघर फिल्म को नहीं दिखाएंगे तो अच्छा होगा। फिर भी कोई इसकी स्क्रीनिंग करता है, तो राज्य सरकार पूरी सुरक्षा देगी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर पूरी तरह से अमल किया जाएगा।
    – उधर, गुड़गांव के सोहना रोड के एक मॉल में सोमवार को कुछ नकाबपोश बदमाशों ने तोड़फोड़ की। मॉल के अंदर आधा दर्जन दुकानों समेत टिकट काउंटर भी तोड़े गए थे।

    5) महाराष्ट्र

    – मुंबई में भी पद्मावत का विरोध जारी है। लेकिन राज ठाकरे की पार्टी एमएनएस ने फिल्म को सपोर्ट किया।
    – विलेपार्ले में सोमवार को अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के लोगों ने कुछ फिल्म डिस्ट्रीब्यूटर्स के ऑफिस में पहुंचकर धमकी दी। इस मामले में पुलिस ने 9 लोगों को गिरफ्तार कर लिया।
    – क्षत्रिय महासभा के मुंबई अध्यक्ष ओमप्रकाश सिंह ने कहा- हम शांतिपूर्ण तरीके से अपनी बात करने गए थे। इसके बावजूद पुलिस ने चार घंटे से ज्यादा समय तक पुलिस स्टेशन में बैठाए रखा। अगर फिल्म दिखाई गई तो इसका अंजाम भुगतना होगा।

    6) बिहार

    – पूरे बिहार में ‘पद्मावत’ का विरोध हो रहा है। पटना में मंगलवार को करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने फिल्म की एडवांस बुकिंग के बंद करने के लिए प्रदर्शन किया। विरोध और धमकियों के चलते थियेटर मालिकों ने यहां ऑनलाइन बुकिंग रद्द कर दी है।
    – पिछले दिनों पद्मावत के विरोध में भागलपुर, गया, मुजफ्फरपुर और पूर्णिया जिलों में भी सिनेमाघर मालिकों ने फिल्म को नहीं दिखाने का फैसला किया है।

    7) गुजरात

    – राज्य के डीजीपी प्रमोद कुमार ने न्यूज एजेंसी को बताया कि पद्मावत की रिलीज को लेकर पूरे राज्य में सिक्युरिटी टाइट कर दी गई है। उन्होंने कहा कि कुछ दिनों से छिटपुट प्रदर्शन किए जा रहे हैं। लोगों ने टायर जलाकर रोड ब्लॉक किए हैं। 8 बसों को आग लगाई गई। पीएसआई की 241 और आरएएफ की 8 कंपनियां तैनात की गई हैं।
    – बता दें कि फिल्म का विरोध कर रहे कुछ लोगों ने सोमवार को मेहसाणा में बसों को आग के हवाले कर दिया। नॉर्थ गुजरात के कुछ हिस्सों में शनिवार को भी बसों पर हमले किए गए थे। जिसके बाद गुजरात स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कार्पोरेशन (GSRTC) ने गांधीनगर, मेहसाणा और बनासकांठा में बस सर्विस को कुछ वक्त के लिए रोक दिया था।

    सिनेमा ऑर्नस ने होम मिनिस्ट्री को लिखा लेटर

    – सिनेमा ऑर्नस एंड एक्जिबिटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (COAEI) ने होम मिनिस्ट्री ने गृह मंत्रालय को लेटर लिखा है। इसमें पद्मावत की रिलीज के दौरान थियेटर्स के बाहर पर्याप्त सुरक्षा मुहैया कराने की अपील की गई है।

    – एसोसिएशन ने थियेटर्स को सलाह दी है कि वे पूरी सुरक्षा तय होने के बाद ही फिल्म रिलीज करें।

    फिल्म को लेकर विवाद क्या है?
    – राजस्थान में करणी सेना, बीजेपी लीडर्स और हिंदूवादी संगठनों ने इतिहास से छेड़छाड़ का आरोप लगाया है। राजपूत करणी सेना का मानना है कि इस फिल्म में पद्मिनी और खिलजी के बीच सीन फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची। फिल्म में रानी पद्मावती को भी घूमर डांस करते दिखाया गया है। जबकि राजपूत राजघरानों में रानियां घूमर नहीं करती थीं।

    – हालांकि, भंसाली साफ कर चुके हैं कि ये ड्रीम सीक्वेंस फिल्म में है ही नहीं।

Share.

About Author

Leave A Reply