About us

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव ने खातेगांव क्षेत्र में दौरा कर ओलावृष्टि से बर्बाद हुई फसलों को देखा

0

देवास जिले में ओलावृष्टि और बारिश के बाद राजस्व और कृषि विभाग के अमले ने फसल नुकसानी का सर्वे शुरू कर दिया है। मंगलवार दाेपहर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव ने खातेगांव क्षेत्र में दौरा कर ओलावृष्टि से बर्बाद हुई फसलों को देखा। यादव ने कहा कि कांग्रेस की सरकार आई तो सबसे पहले प्रदेश में किसानों के कर्ज माफी की योजना चलाई जाएगी।

– यादव क्षेत्रीय नेताओं के साथ दोपहर में खातेगांव पहुंचे और ओला प्रभावित क्षेत्रों का दौरान किया। वे इंदौर से बांई जगवाड़ा होते हुए खातेगांव पहुंचे यहां कार्यकर्ताओं के साथ वे बारिश में बर्बाद हुई फसलों को देखते खेत पर पहुंचे। वे लवरास, संदलपुर फांटा, दीपगांव, बचखाल, देवला, जियागांव, अमेली, गनोरा गांव पहुंचे और ओला प्रभावित किसानों से मिले। इसके बाद वे सीहोर के लिए रवाना हो गए।

– फसलों को देखने के बाद अरुण यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री पिछले 15 सालों से प्रदेश के अन्नदाताओं ने बस वादे ही करते आ रहे हैं। इतनी बार फसल नष्ट हुई, ओलावृष्टि हुई, लेकिन आज तक कई किसानों को मुआवजा नहीं मिला है। अब सीएम कह रहे हैं कि उत्पादन का भंडारण किया जाएगा, यदि भंडारण की व्यवस्था होती तो हमारी प्याज सड़क पर नहीं फिंकता। अभी भी पूरी तरह से फसलें नष्ट हो चुकी हैं, लेकिन सीएम अभी भी वादे ही कर रहे हैं।

– प्रदेश के किसानों को उचित दाम नहीं मिल रहा है। इसलिए यहां का किसान पूरे देश में सबसे ज्यादा कष्ट में है। हमने मांग की है कि कम से कम 50 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर के हिसाब से किसानों को मुआवजा मिले। यदि मप्र में कांग्रेस की सरकार आई तो सबसे पहले प्रदेश में किसानों के कर्ज माफी की योजना चलाई जाएगी। इसे लेकर हम एक फॉर्मेट भी बन रहा है।

40 से 80 फीसदी तक नुकसान
– कलेक्टर को भिजवाई गई प्राथमिक रिपोर्ट के अनुसार जिले के खातेगांव के 45 से 47 गांवों में नुकसान हुआ है। इसके अलावा सोनकच्छ के भी तीन गांवों में अधिक नुकसान है। यहां 40 से 80 फीसदी तक नुकसानी का प्राथमिक आंकलन आया है। कलेक्टर ने बताया राहत राशि के लिए भी सर्वे किया जा रहा है, बीमा क्लेम अलग से मिलेगा।

Share.

About Author

Leave A Reply