About us

भारतीय जनता पार्टी के 38वें स्थापना दिवस के मौके पर अमित शाह ने विपक्ष की तुलना सांप-नेवला, कुत्ता-बिल्ली से की

0

भारतीय जनता पार्टी के 38वें स्थापना दिवस के मौके पर अमित शाह ने विपक्ष की तुलना सांप-नेवला, कुत्ता-बिल्ली से की। मुंबई की रैली में उन्होंने कहा कि 2019 का उल्टी गिनती शुरू हो गई है और सारी पार्टियां नरेंद्र मोदी की बाढ़ से डरकर साथ चुनाव लड़ने की योजना बना रही हैं। भारी बाढ़ के वक्त तो सभी जान बचाने के लिए एक जगह जमा हो जाते हैं।

मोदी से डरकर एक हो रहा विपक्ष

– अमित शाह ने कहा, ”लोकसभा चुनाव के पहले सारा विपक्ष कहता है, एक साथ आओ-एक साथ आओ। मैंने एक कहावत सुनी थी कि जब कही तेज बाढ़ आती है और सारे पेड़-पौधे पानी में बह जाते हैं। सिर्फ एक पेड़ बचता है। सांप, नेवला, कुत्ता, बिल्ली, शेर और चीता सब जान बचाने के लिए उसी पर चढ़ जाते हैं क्योंकि नीचे पानी का डर रहता है। इसी तरह मोदी की बाढ़ चल रही है और विपक्ष के नेता साथ आने के लिए कहने लगे हैं।”

भाजपा सत्ता भोगने के लिए नहीं

– शाह ने कहा, ”हमारे पूर्वज कहते थे कि हम राजनीति में सत्ता के उपभोग के लिए नहीं हैं, हम राजनीति में सत्ता को साधन बनाने के लिए आए हैं। उसी रास्ते पर नरेंद्र मोदी सरकार चल रही है।”

बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने सबसे ज्यादा बलिदान दिया

– शाह ने आगे कहा, ”38 साल पहले अटल जी ने मुंबई में भारतीय जनता पार्टी की स्थापना की। उन्होंने कहा था कि अंधेरा छटेगा, सूरज निकलेगा और कमल खिलेगा। आज पूरे देश में कमल खिला हुआ है।”
– ”भारत के लोकतंत्र में सबसे ज्यादा बलिदान भाजपा के कार्यकर्ताओंं ने दिया। कार्यकर्ता ही भाजपा के मालिक हैं।”

2 सीटों से 330 तक पहुंचे
– शाह ने कहा, “एक समय में भाजपा के मात्र दो सांसद थे लेकिन आज भाजपा के 330 सांसद हैं और केन्द्र में राजग की सरकार पूर्ण बहुमत के साथ है। आज लगभग 20 राज्यों में खिल चुका है। पश्चिम बंगाल और कर्नाटक में पार्टी को जीत हासिल करनी है।’
– “2019 में एनडीए की पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनानी है। उन्होंने कहा कि केन्द्र में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और महाराष्ट्र में देवेन्द्र फडनवीस की सरकार पारदर्शिता के साथ बहुत अच्छा काम कर रही है।”
– उन्होंने कहा कि केन्द्र और महाराष्ट्र में एनडीए सरकार के कार्यकाल में अभी तक भ्रष्टाचार का कोई आरोप नहीं लगा है जबकि पूर्व की सरकारों के खिलाफ भ्रष्टाचार के कई आरोप थे।

38वां स्थापना दिवस मना रही पार्टी

 – बता दें कि 1951 में श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने जनसंघ की शुरुआत की। इसके बाद 6 अप्रैल 1980 को भाजपा की स्थापना हुई।
Share.

About Author

Leave A Reply