About us

भोपाल समेत 12 से ज्यादा शहरों में प्री-मानसून की फुहारों से हवा ठंडी हो गई

0

तीन दिन की उमस के बाद प्रदेश के ज्यादातर हिस्से में प्री-मानसून गतिविधियां फिर तेज हो गई हैं। बुधवार को भोपाल समेत 12 से ज्यादा शहरों में प्री-मानसून की फुहारों से हवा ठंडी हो गई। इससे भोपाल में सुबह लगातार तीन घंटे तक चली फुहारों से एक ही दिन में तापमान 6 डिग्री गिरा। जून में  पारे में सबसे बड़ी गिरावट है। यहां दिन का तापमान 31.6 डिग्री तो रात का 24.4 डिग्री रिकॉर्ड हुआ। श्योपुरकलां में 13 डिग्री तो ग्वालियर में 10 डिग्री तक पारा गिरा। ग्वालियर में 11 साल बाद जून में इतनी गिरावट हुई है। इनके अलावा मालवा, विंध्य, बुंदेलखंड, चंबल अाैर महाकौशल इलाकों के कई शहराें में भी हल्की बारिश हुई। माैसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि उत्तरी मप्र व उससे सटे उप्र के दक्षिणी हिस्से में कम दबाव का क्षेत्र अाैर 3.1 किमी ऊंचाई पर चक्रवाती हवा का घेरा
बनने से प्री-मानसून गतिविधि में इजाफा हुअा।

कारण : उत्तरी मप्र व उससे सटे उप्र के दक्षिणी हिस्से में कम दबाव का क्षेत्र एवं 3.1 किमी ऊंचाई पर चक्रवाती हवा का घेरा बनने का असर

तेजी से तापमान कम होने से जून में ठंड जैसा अहसास

सबसे ज्यादा श्याेपुर में 18.1 डिग्री सामान्य से कम रहा पारा
शहर    पारा गिरा    सामान्य से कम

भोपाल    6 डिग्री    5 डिग्री
गुना    9 डिग्री    9 डिग्री
राजगढ़    7.8 डिग्री    7.8 डिग्री
श्योपुर     13 डिग्री    18.1 डिग्री
टीकमगढ़    6.7 डिग्री    7.4 डिग्री

अब आगे क्या : मानसून 6 दिन में मप्र में दे सकता है दस्तक

  • चार दिन से तमिलनाडु में अटके दक्षिण पश्चिम मानसून की बंगाल की खाड़ी ब्रांच सक्रिय हाे गई है।
  • यह अगले दाे-तीन दिन में बिहार, झारखंड, अाेडिशा पहुंच सकता है।
  • यदि इसकी प्राेग्रेस ऐसी ही रही तो 25 जून के अासपास यह मप्र में दस्तक दे देगा।
  • वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक एके शुक्ला के मुताबिक

चित्ताैड़गढ़ : 5 घंटे में 8 इंच बारिश, पांच फीट पानी में 4 घंटे फंसी बस राजस्थान के चित्ताैड़गढ़ में पांच घंटे में ही 8 इंच पानी बरस गया। इससे रेलवे पुलिया के नीचे रात ढाई बजे इंदौर से जोधपुर जा रही ट्रैवल्स बस 6 फीट पानी में फंस गई। इसमें 40 यात्री थे। आपदा टीम की मदद से 4 घंटे में सभी को बचा लिया।

Share.

About Author

Leave A Reply