About us

मध्य-पश्चिम भारत में मानसून के 8 से 15 दिन में पहुंचने का अनुमान

0

मौसम विभाग ने आखिरी पूर्वानुमान में भी लगातार तीसरे साल सामान्य मानसून रहने की बात कही। हालांकि, दक्षिण और उत्तर-पूर्व के राज्यों में सामान्य से कम बारिश का पूर्वानुमान है। मध्य-पश्चिम भारत में मानसून के 8 से 15 दिन में पहुंचने का अनुमान है। देश के उत्तर और पश्चिमी हिस्सों में अच्छी बारिश की उम्मीद है। दीर्घावधि (लॉन्ग पीरियड एवरेज) में 97 फीसदी मानसूनी बारिश के आसार हैं। बता दें कि 97 से 104 फीसदी के बीच दीर्घावधि की मानसूनी बारिश को सामान्य माना जाता है। इससे पहले अप्रैल में जारी किए गए अनुमान में भी मौसम विभाग ने मानसून सामान्य रहने की बात कही थी।

किन इलाकों में कितने फीसदी बारिश का अनुमान

– मौसम विभाग ने बताया कि देश में मानसूनी बारिश का औसत 97 फीसदी रहने का अनुमान है। जुलाई में दीर्घावधि की 101% और अगस्त में 94% बारिश का अनुमान है।

क्षेत्र बारिश
उत्तर-पश्चिम 100%
मध्य भारत 99%
दक्षिण 95%
उत्तर-पूर्व 93%

मानसून ने केरल कवर किया, कर्नाटक-तमिलनाडु की ओर बढ़ा

– दक्षिण-पश्चिम मानसून इस साल 3 दिन पहले केरल पहुंचा। ये करीब-करीब पूरे केरल को कवर चुका है। मानसून अब कर्नाटक के तटीय क्षेत्रों और तमिलनाडु की ओर बढ़ रहा है।

कर्नाटक के मेंगलोर और उडुपी में रिकॉर्ड, बारिश बाढ़ के हालात

– कर्नाटक के मेंगलोर और उडुपी में 34 सेंटीमीटर तक बारिश दर्ज की गई। मेंगलोर के पनामबुर में 33.4 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई। अधिकारियों के मुताबिक, पनामबुर में बारिश ने 36 साल का रिकॉर्ड तोड़ा। उदयनगर में बारिश के दौरान हादसे में एक महिला की मौत की भी खबर है।

रेड अलर्ट जारी:मौसम विभाग के मुताबिक, यह बारिश मेकुन तूफान के असर से हो रही है। नेशनल डिजाजस्टर मैनेंजमेंट अथॉरिटी ने पूरे राज्य में रेड अलर्ट जारी किया है। मेंगलोर और उडुपी में स्कूलों की छुट्टी कर दी गई है। ज्यादातर बाजार बंद हैं।

मोदी ने की अधिकारियों से बात:कर्नाटक में हुई मूसलाधार बारिश के बाद नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया। उन्होंने लिखा कि कर्नाटक के अलग-अलग हिस्सों में बारिश से प्रभावित होने वाले सभी लोगों की सुरक्षा और बेहतरी की कामना करता हूं। अधिकारियों से बात की है और उनसे प्रभावित इलाकों में हर मुमकिन मदद पहुंचाने को कहा है। गृह मंत्रालय ने एनडीआरएफ की टीम को राहत और बचाव के काम में लगाया है।

10 राज्यों में आंधी-तूफान का अलर्ट

मौसम विभाग ने उत्तर प्रदेश हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, बिहार, प. बंगाल और सिक्किम में आंधी-तूफान की चेतावनी जारी की है।

उत्तर भारत में गर्मी से राहत नहीं

– जहां एक ओर केरल में मानसून ने तीन दिन पहले ही दस्तक दे दी है। लेकिन उत्तर भारत के राज्यों को गर्मी से राहत मिलती नहीं दिख रही है। मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में चार-पांच दिन अभी मौसम ऐसा ही रहने का अनुमान है। राजस्थान के 6 शहरों में पारा 46 डिग्री के पार है। गंगानगर में पारा 49 डिग्री के करीब पहुंच गया। मध्य प्रदेश का ग्वालियर राज्य का सबसे गर्म शहर रहा। यहां बुधवार को पारा 46.4 डिग्री तक पहुंच गया।

राजस्थान के 6 सबसे गर्म शहर (पारा डिग्री सेल्सियसमें)

श्रीगंगानगर 48.7
चुरू 47.6
बारां 47
झालावाड़ 47
भरतपुर 46.5
बीकानेर 46.2

राजस्थान में इन शहरों में 45 के पार पहुंचा पारा (पारा डिग्री सेल्सियसमें)

चित्तौड़गढ़ 45.6
पिलानी 45.6
कोटा 45.5
जैसलमेर 45
अलवर 45

मध्यप्रदेश में 5 सबसे गर्म शहर (पारा डिग्री सेल्सियसमें)

ग्वालियर 46.4
खजुराहो 46.2
गुना 45.4
उमरिया 45.3
भोपाल 45.3

छत्तीसगढ़ का हाल (पारा डिग्री सेल्सियसमें)

बिलासपुर 44.5
रायपुर 43.8
Share.

About Author

Leave A Reply