About us

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश भर से आए मेधावी विद्यार्थियों का हौसला बढ़ाया

0

उन्होंने कहा कि प्यारे बेटे-बेटियों बेहतर पढ़ाई का संकल्प लो। पढ़ाई की चिंता मत करना, क्योंकि इसकी फीस तुम्हारे माता-पिता नहीं भरेंगे। तुम्हारा मामा शिवराज सिंह चौहान भरेगा। मैं तुम्हारी आंखों के सपने को मरने नहीं दूंगा।

– मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सोमवार को लाल परेड ग्राउंड में प्रतिभाशाली विद्यार्थी प्रोत्साहन समारोह में बोल रहे थे। वह 12वीं पास प्रदेश के 22 हजार से ज्यादा प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को लैपटॉप राशि वितरित कर रहे हैं। कार्यक्रम के बाद विद्यार्थियों के बीच सीएम के साथ सेल्फी लेने की होड़ लग गई।

पीएम नरेंद्र मोदी जैसा भी बन सकते हो…
– सीएम शिवराज ने उत्साह बढ़ाते हुए कहा, “आईएएस, आईपीएस, आईएफएस, पुलिस, डॉक्टर, इंजीनियर, प्रोफेसर। मंत्री, मुख्यमंत्री या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसा बनना है, जो भी बनना है, वह बनोगे। संकल्प लो, इच्छाशक्ति पैदा करो। तुम सोचोगे, करोगे और हो जाएगा। दुनिया में कोई कार्य असंभव नहीं है। लक्ष्य तय करो, उसके लिए रोड मैप बनाओ। घनघोर परिश्रम करो। इसके बाद सब हो जाएगा।”

मुख्यमंत्री ने कहा कि 2009-10 में प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं की संख्या 473 थी, जो अब 2017-18 में बढ़कर 47 गुना 22 हजार 36 हो गई है। उन्होंने कहा कि द्वितीय चरण में प्रदेश के सभी ऐसे विद्यार्थी जो 12वीं में 75 प्रतिशत अंक लाए हैं, चाहे वह एससी-एसटी हो, ओबीसी या सामान्य वर्ग के सभी को लैपटॉप दिया जाएगा। सूत्र बताते हैं कि जुलाई माह में यह कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा, जिसमें करीब 44 हजार मेधावी विद्यार्थियों को लैपटॉप की राशि दी जाएगी।

सीएम ने दिए सक्सेस टिप्स

– मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मेधावी विद्यार्थियों को सफलता प्राप्त करने का फार्मूला दिया। इसमें उन्होंने तीन शब्द बताएं और विद्यार्थियों को इसका पालन करने के लिए कहा। यह फार्मूला है प्रेरणा-परिश्रम-पैसे। प्रेरणा लोगे तो आगे बढ़ने के बारे में सोचोगे। यह पांच फीसदी काम करता है। परिश्रम करो यह 90 फीसदी काम करती है। वहीं पैसे की जरूरत होती है, क्योकि सुविधाएं पैसे से ही आती है। इस पर उन्होंने कहा कि पैसे की चिंता मत करना इसके लिए मध्यप्रदेश सरकार की तरफ से सुविधाएं और पैसे उपलब्ध कराएं जाएंगे।

ये दी नसीहत

– सीएम ने विद्यार्थियों को सीख दी कि अपने माता-पिता और बहन-बेटियों का हमेशा सम्मान करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि देश बदल रहा है। इस बदलाव में अपना योगदान देने के लिये तैयार रहें। नई टेक्नोलॉजी का रचनात्मक उपयोग करें और इसके दुरूपयोग से हमेशा बचें। हमेशा सचेत रहें कि गलत राह पर कदम ना पड़ जाये। निराशा को अपने पास नहीं आने दें। किसी भी प्रकार के भटकाव से बचें। सिर्फ अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करें। उन्होंने कहा कि बेटियों की शिक्षा व्यवस्था के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध है। सरकारी नौकरियों में उनके लिये पद आरक्षित किए गए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिसने बेटियों की तरफ बुरी नजर डाली और बेटियों की गरिमा को ठेस पहुंचाने की कोशिश भी की, उसे सीधे फांसी की सजा मिलेगी।

बैंक खाते में सीधे ट्रांसफर की जाएगी राशि
– सीएम सीधे विद्यार्थियों के बैंक खातों में ऑनलाइन राशि ट्रांसफर करेंगे। प्रदेश में वर्ष 2009-10 में प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं की संख्या केवल 473 थी, जो वर्ष 2017-18 में 47 गुना बढ़कर 22 हजार 36 हो गई है।

इस बार 75 फीसदी वाले सभी विद्यार्थियों को लैपटॉप
– बता दें कि स्कूल शिक्षा विभाग की इस योजना में शासकीय एवं अशासकीय विद्यालयों में माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड परीक्षा की कक्षा 12वीं पास प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को लैपटॉप वितरित किए जा रहे हैं। अब नए नियम के तहत 75 फीसदी अंक लाने वाले सभी विद्यार्थियों को लैपटॉप दिए जाएंगे।

– पहले के नियमों में एससी-एससी वर्ग के विद्यार्थियों के लिए 75 फीसदी एवं उससे अधिक अंक लाने पर लेपटॉप देने की योजना थी। वहीं, ओबीसी एवं सामान्य वर्ग के विद्यार्थियों को 85 फीसदी अंक लाने पर दिया जा रहा था।

28 मई को होना था कार्यक्रम
– मुख्यमंत्री प्रतिभाशाली विद्यार्थी प्रोत्साहन समारोह 28 मई को भोपाल के लाल परेड ग्रांउड में होना था, लेकिन किसाल आंदोलन के चलते कार्यक्रम को स्थगित कर दिया गया था। जैसे ही किसान आंदोलन समाप्त हुआ कार्यक्रम का आयोजन फिक्स कर दिया गया।

Share.

About Author

Leave A Reply